धर्म शांति और लोगों में भाईचारा रखने का संदेश देता है। भले कोई सा भी धर्म हो। लेकिन कुछ लोग धर्म के नाम पर कुछ ऐसा काम कर देते हैं जिससे धर्म को आहत पहुंचती है और शांति भाईचारे की जगह खौफ आ जाता है। फ्रांस में इस्लाम के कट्टरपंथी ने पैगंबर का कार्टून बच्चों को दिखाया इस कार्टून को देखकर इस्लामिक शख्स ने बिना सोचे समझे टीचर का सिर धड़ से अलग कर दिया। इस मामले के कारण फ्रांस में हुए वीभत्स कांड को लेकर सारे लोग खौफ में जी रहे हैं।


 
टीचर का सिर काटने वाले हत्यारे का नाम अब्दुल्ला अजारोव है जिसकी उम्र महज 18 साल है। जानकारी के लिए बता दें कि आरोपी अब्दुल्ला ने टीचर सैमुअल पेटी की हत्या इसलिए कर दी कि उसने अपने छात्रों को अभिव्यक्ति की आजादी के बारे में पढ़ाते हुए पैगंबर मोहम्मद के कुछ कार्टून दिखाया था। टीचर का सिर काटने में अब्दुल्ला अजारोव का ही हाथ नहीं है बल्कि कई मुल्ला-मौलवियों का निरंकुश अभियान भी शामिल हैं।

टिचर की हत्या पर सारे फ्रांस के पेरिस में आक्रोश फैल गया है। फ्रांसीसी सरकार दर्जनों ऐसे मुसलमानों को गिरफ्तार कर लिया है, जिनके इशारों और साजिशों से टीचर की हत्या की गई है। लोगों के बढ़े आक्रोश को देखते हुए फ्रांस सरकार ने पेरिस के उत्तर-पश्चिम में बनी मस्जिद पर अगले छह महीने के लिए ताले ठोक दिए गए हैं। फ्रांस के गृहमंत्री ने टीचर को ‘शहीद अध्यापक’ का नाम दिया है। इस मामले की आग को देखते हुए फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों ने कहा कि वे ‘इस्लामी अलगाववाद’ के खिलाफ जोरदार अभियान चलाएंगे।