एक मुस्लिम छात्र को कसाब कह कर संबोधित करने के आरोप में एक कॉलेज के प्रोफेसर को निलंबित किए जाने के एक दिन बाद कर्नाटक के शिक्षा मंत्री बी.सी. नागेश ने कहा कि यह कोई बड़ा मुद्दा नहीं है। नागेश ने संवाददाताओं से कहा, जब किसी को कसाब कह कर संबोधित किया जाता है, तो मुद्दा क्यों होना चाहिए। लगभग हर कोई रावण या शकुनि जैसे शब्दों का उपयोग करता है। यहां तक कि विधानसभा में भी कई बार हमने इन नामों को लिया है। यह कोई मुद्दा नहीं बनता है। 

ये भी पढ़ेंः कार में बैठी थीं मुख्यमंत्री की बहन, पुलिस आई और गाड़ी समेत उठाकर ले गई 4 किमी दूर


उल्लेखनीय है कि अजमल कसाब पाकिस्तानी आतंकवादी था, जिसे 26/11 के मुंबई आतंकी हमले को अंजाम देने के दौरान पकड़ा गया था और 2012 में उसे फांसी दे दी गयी थी। पिछले हफ्ते सोशल मीडिया में वायरल हुए एक वीडियो में दिखाई दे रहा है कि उडुपी के एक प्रतिष्ठित इंजीनियरिंग संस्थान के एक प्रोफेसर ने एक मुस्लिम छात्र से उसका नाम पूछा था और छात्र के जवाब देने पर उन्होंने कहा, ओह, तुम कसाब की तरह हो। इसके बाद वाक युद्ध शुरू हो गया और बाद में प्रोफेसर को छात्र को यह कहते हुए सुना जा सकता है कि तुम मेरे बेटे की तरह हो और उन्हें मजाक के लिए खेद है। 

ये भी पढ़ेंः फिरोजाबाद में इन्वर्टर फैक्ट्री में भीषण आग, 3 बच्चों सहित 6 की मौत


वीडियो के व्यापक रूप से वारल होने के बाद, संस्थान ने प्रोफेसर को निलंबित कर दिया और जांच के आदेश दिए। बाद में संस्थान ने बयान जारी कर में कहा, हम चाहते हैं कि हर कोई यह जान ले कि संस्थान इस तरह के व्यवहार की निंदा ही नहीं करता है बल्कि ऐसी घटनाओं से निर्धारित नीति के अनुसार निपटा जाएगा।