अरब सागर से ताऊते तूफान की हवाएं मध्यप्रदेश में भी आ गई है, आगामी 24 घंटे में मध्यप्रदेश के सात संभागों व 9 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर दिया गया है।  जिसमें जबलपुर भी शामिल है। 

मौसम विभाग के अनुसार मध्यप्रदेश के भोपाल, सागर, जबलपुर, रीवा, शहडोल, उज्जैन, इंदौर, होशंगाबाद, ग्वालियर व चम्बल संभा में गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है, इसके अलावा रायसेन, सागर, राजगढ़, नरसिंहपुर, बड़वानी, अलीराजपुर, धार, रतलाम, शाजापुर, आगर मालवा, नीमच, मंदसौर जिले में भारी बारिश की संभावना जताई जा रही है।  यहां पर एक साथ येलो व आरेंज अलर्ट जारी किया गया है, यहां पर हवाओं की रफ्तार 18 किलोमीटर प्रतिघंटा तक हो सकती है, वहीं 18 व 19 मई को पूरे मध्यप्रदेश में तेज हवाएं चलने के साथ बारिश के आसार है, इस दौरान कहीं  कही तेज बौछारें भी पड़ेगी, बरसात का यह सिलसिला रूक-रूक कर तीन-चार दिन तक भी बना रह सकता है। 

इसके अलावा तेज आंधी चलने के आसार ज्यादा है।  मौसम विभाग के अनुसार देश के केरल, कर्नाटक, गोवा, महाराष्ट्र में तबाही मचाने के बाद तेजी से गुजरात की ओर बझ़ रहा है, तूफान की आहट के साथ गुजरात के तटीय इलाके में भारी बारिश की आशंका है, हालांकि आपदा से निपटने के लिए 50 टीमें तैनात की गई है।  प्रशासन अलर्ट पर है,  तटीय इलाकों के मछुआरों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया गया है।  गुजरात में तूफान के पहुंचने के दौरान 155 से 165 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएं चल सकती हैं। तूफान के मद्देनजर सूरत एयरपोर्ट को शाम 6 बजे तक के लिए बंद कर दिया गया है।