भारत के सबसे बड़े कॉमर्शियल (India's largest manufacturer of commercial vehicles, Tata Motors)  वाहनों के मैनुफैक्चरर, टाटा मोटर्स ने एक ही दिन में 21 नए (Tata Motors has launched a wide range of 21 new products and variants in a single day)  प्रोडक्ट्स और वेरिएंट्स की व्‍यापक रेंज लॉन्च की है. इसे सभी कटेगरीज और सभी तरह सामान ले जाने और यात्रियों के लिए सुविधाजनक ट्रांसपोर्ट की उभरती जरूरत को पूरा करने के लिहाज से डिजाइन किया गया है. 

ये लेटेस्ट वाहन टाटा मोटर्स के अलग-अलग तरीके से इस्तेमाल के लिए सेटअप किए गए “पावर ऑफ 6” बेनिफिट ऑफर को फिर से सेट करते हैं. इसकी प्रोडक्टिविटी काफी अधिक है और ओनरशिप की कॉस्ट (टीसीओ) काफी कम है.

टाटा मोटर्स के एक्‍जीक्‍यूटिव डायरेक्‍टर गिरीश वाघ ने 21 वाहनों को लॉन्च करते हुए कहा, “भारतीय इकॉनमी को ताकत देने के लिए इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट के इंजन, कंज्यूमर कंजम्पशन और ई-कॉमर्स को लगातार (sustainable use of consumer consumption and e-commerce) इस्तेमाल के लिए लगातार ट्रांसपोर्टेशन सपोर्ट मुहैया कराते है. 

कॉमर्शियल वाहनों में लीडर होने के चलते वह भविष्य के लिए स्मार्ट और फ्यूचर रेडी वाहन लॉन्च कर कस्टमर्स को उनके खर्च किए गए पैसे की बेहतर कीमत अदा करने का ऑफर देते हैं. आधुनिक फीचर्स से लैस 21 वाहनों को भारतीय इकॉनमी की उभरती हुई जरूरतों और प्रभावी ट्रांसपोर्ट की बढ़ती हुई मांग को पूरा करने के मकसद से डिजाइन किया गया है.”

उन्होंने कहा, “अलग-अलग कामों के साथ किसी खास काम के लिए इस्तेमाल किए जाने इन वाहनों के हर पहलू को खास उद्देश्य से डिजाइन किया गया है. इसमें आधुनिक तकनीक और बेहतरीन ढंग से सुधारे गए पावर ट्रेन के साथ यूजर्स की सुविधा और आराम का खासतौर पर ध्यान रखा गया है. हमारे वाहन कम खर्च के साथ ज्यादा मुनाफा और रेवेन्यू कमाने के लिए वाहन के ज्यादा से ज्यादा इस्तेमाल की कंज्यूमर की जरूरत को पूरा करने के लिए आदर्श वाहन हैं.”

कंपनी ने अब तक 25 लाख से ज्यादा ट्रक लॉन्च किए हैं, जिसमें एक लाख से ज्यादा बीएस-6 वाहन है. वह तरह-तरह के सामान, जैसे मार्केट लोड, खेती से संबंधित सामान, सीमेंट, लोहा और स्टील कंटेनर, व्हीकल कैरियर, पेट्रोलियम, केमिकल, वॉटर टैंकर्स, एलपीजी, एफएमसीजी, इलेक्ट्रिक से चलने वाले बड़े उपकरण, जल्द खराब होने वाले प्रोडक्ट, माइनिंग के साथ नगर निगम से संबंधित उपयोगी सामान को इधर से उधर पहुंचाते हैं. कंज्यूमर को इन वाहनों, जैसे लोड बॉडीज, टिपर्स, टैकर्स, बल्कर्स और ट्रेलर्स में पूर्ण रूप से निर्मित बॉडी के साथ कई ऑप्शन दिए गए हैं.

टाटा मोटर्स ने 1986 में भारतीय मार्केट में हल्के ट्रक का कॉन्सेप्ट पेश किया था. टाटा मोटर्स के इंटरमीडिएट और लाइट कॉमर्शियल रेंज के वाहनों ने अपने आकार, पैमाने, मौजूदगी और लोकप्रियता में बढ़ोतरी की है. अब तक डीजल और सीएनजी पावरट्रेन में उपलब्ध 50 हजार से ज्यादा मध्यम और लाइट कॉमर्शियल वाहनों की बिक्री की गई है. यह वाहन अपनी मजबूत बनावट और कई तरह के इस्तेमाल के चलते मशहूर है.