पूर्व मुख्यमंत्री तरुण गोगोई ने दावा किया है कि मेघालय में फिर कांग्रेस की सरकार बनेगी। उनके मुताबिक भाजपा  दुनिया की सबसे भ्रष्ट पार्टी है। पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि भाजपा देश के अन्य भागों की तरह मेघालय में भी जनता का भरोसा खो चुकी है। उनके मुताबिक भाजपा तो वहां सीधी लड़ाई में भी नहीं है। असली लड़ाई तो कांग्रेस और क्षेत्रीय दलों के बीच है। ये लड़ाई धार्मिक ताकतों और सेक्युलर विचारधारा के बीच की है।

गोगोई के मुताबिक हिंदुत्व की मूल धारणा को आगे रखकर चल रही है। हिंदुत्व और हिंदुइज्म दो अलग-अलग बाते हैं। धर्म को राजनीति से मिलाना खतरनाक है। पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि यही कार्ड मोदी ने गुजरात में खेला था। पाकिस्तान की साजिश से अहमद पटेल को मुख्यमंत्री बनाने के प्रयास का कांग्रेस पर आरोप लगाया था।

पूर्व मुख्यमंत्री ने कहा कि देश में इतनी धार्मिक असहिष्णुता कभी देखने को नहीं मिली। अल्पसंख्यकों में इतनी असुरक्षा की भावना भी पहले कभी नहीं देखी गई। भाजपा पर धनबल और बाहुबली के इस्तेमाल का आरोप लगाते हुए उन्होंने इसे सबसे भ्रष्ट पार्टी तक कह डाला।


दूसरी तरफ वरिष्ठ कांग्रेसी नेता गुलाब नबी आजाद ने केंद्र की मोदी सरकार पर जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर भारत को विकास से दूर रखने का आरोप लगाया है। उनके मुताबिक केंद्र को दरअसल इन दोनों क्षेत्रों की भौगोलिक संवेदनशीलता को लेकर कुछ जानकारी नहीं है।

उन्होंने कहा कि हालांकि जम्मू कश्मीर और पूर्वोत्तर के बीच पूरी तरह से अंतर है। दोनों की भौगोलिक, सांस्कृतिक और अन्य जीवनगत रुचियों में खासा अंतर है। भाजपा नेतृत्व और केंद्र सरकार को इसकी समझ नहीं है। वह किसी भी तरह सही गलत तरीके से पूर्वोत्तरीय राज्यों में सत्ता हासिल करना चाहती है। जैसा मणिपुर में किया था।