तमिलनाडु में भारी बारिश (heavy rain in tamilnadu) के कारण अव्यवस्था की स्थिति पैदा हो गई है। हर तरफ पानी-पानी नजर आ रहा है। इस बीच, दक्षिण-पश्चिम और उससे सटे पश्चिम मध्य बंगाल की खाड़ी पर बना हवा का निम्न दबाव उत्तर तमिलनाडु और दक्षिणी आंध्र प्रदेश की तटों की ओर बढ़ रहा है। यह हवा का निम्न दवाब चेन्नई से लगभग 340 किमी दूर दक्षिण-पूर्व और पुड्डुचेरी से 300 किमी की दूरी पर केंद्रित है। जो गुरुवार को उत्तरी तमिलनाडु के तट पर पहुंचेगा। अगले 12 घंटों में इसके तेज होने का अनुमान है। 

मौसम विभाग (weather department) के सूत्रों ने कहा कि अगर इसकी न्यूनता में तेजी से बदलाव आता है तो बहुत भारी बारिश हो सकती है। उन्होंने बताया इसके असर से अगले 24 घंटों के दौरान चेन्नई, तिरुवल्लूर, कांचीपुरम, चेंगलपेट, कुड्डालोर और विल्लुपुरम जिलों अत्यधिक भारी बारिश (Tamil Nadu rain updates) हो सकती है। चेन्नई और पांच जिलों में में रेड अलर्ट जारी किया गया है और राहत एवं बचाव का काम करने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल (एनडीआरएफ) को तैनात किया गया है। 

एनडीआरएफ (NDRF) की 20 सदस्यीय टीम को तिरुवल्लुर जिले में तैनात किया गया है। मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि इस दौरान उत्तरी तमिलनाडु के आंतिरिक हिस्सों में भी भारी बारिश होने के असार हैं। मौसम की बिगड़ती हुई स्थिति को देखते हुए कई जिलों के स्कूलों और कॉलेजों में आज के लिए छुट्टी की घोषणा कर दी गई है। इस बीच, कल शाम से चेन्नई शहर, उपनगरों, कई जिलों और पश्चिमी क्षेत्र में लगातार बारिश हो रही है। 

पिछले कुछ दिनों से रूक-रूक हो रही भारी बारिश के कारण शहर और उपनगरों के निचले इलाकों में जलभराव की समस्या पैदा हो गई है। पुलिस सूत्रों ने कहा हालांकि चेन्नई के सभी हिस्सों में बारिश हो रही है, लेकिन यातायात पर इसका कोई असर नहीं पड़ा। मौसम विभाग (IMD) की ओर से भारी बारिश का अनुमान लगाए जाने के बाद ग्रेटर चेन्नई नगर निगम के अधिकारियों ने लोगों से खाने-पीने और आवश्यक सामान का पर्याप्त भंडार रखने की अपील करते हुए घर से बाहर न निकलने की सलाह दी है।