राज्य के शिक्षा मंत्री अंबिल महेश पोयामोझी ने बुधवार को यहां कहा कि तमिलनाडु सरकार कुल 10,030 खराब स्थिति के सरकारी स्कूलों को ध्वस्त कर उनकी जगह नए भवन बनाएगी। इस वित्तीय वर्ष के दौरान, राज्य सरकार ने इसके लिए 1,300 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की है। मंत्री ने एक बयान में कहा कि सरकार स्कूली शिक्षा के क्षेत्र में बड़े विकास के लिए तैयार है और बच्चों को सीखने के सभी क्षेत्रों से परिचित कराने के लिए स्मार्ट क्लासरूम बनाए जाएंगे।

अंबाझगन स्कूल विकास योजना के तहत पांच साल में सात हजार करोड़ रुपये की लागत से स्कूलों के लिए 18,000 नई कक्षाओं और अन्य बुनियादी ढांचे के निर्माण की भी योजना बनाई जा रही है। मंत्री पोयामोझी ने कहा कि जिला कलेक्टरों और विधायकों को प्राथमिकता के आधार पर बनने वाले स्कूल भवनों की पहचान करने के लिए कहा गया है। मंत्री ने कहा कि एक सरकारी आदेश है जिसमें कहा गया है कि स्कूल बस से बच्चों के उतरते समय दो स्कूल शिक्षकों को उपस्थित रहना होगा और उन्हें यह सुनिश्चित करना होगा कि बच्चे कक्षाओं तक पहुंचें और उसके बाद ही स्कूल बसों को वापस जाने दें।

वह कक्षा दो के एक छात्र की मौत का जिक्र कर रहे थे, जिसे एक स्कूल बस ने कुचल दिया था। उन्होंने कहा कि सरकार चार अप्रैल को होने वाली जिला शिक्षा अधिकारियों की बैठक में स्कूल अधिकारियों के साथ इस मामले को उठाएगी। इसके अलावा, सरकार छात्रों के शैक्षणिक उत्पादन को बढ़ाने के लिए प्रयास कर रही है और छात्रों की नियमित निगरानी की कार्रवाई की जाएगी।