तमिल के पॉपुलर एक्टर विवेक का शनिवार सुबह 59 साल की उम्र में निधन हो गया है। उन्हें हार्ट अटैक आने के बाद शुक्रवार को चैन्नई के एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। रिपोर्ट्स के मुताबिक विवेक ने सुबह 4.35 बजे अस्पताल में अंतिम सांस ली। विवेक के निधन के बाद तमिल फिल्म इंडस्ट्री में शोक की लहर है। उनके कई फैंस और फ्रेंड्स समेत सभी सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर उन्हें याद कर रहे हैं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी सोशल मीडिया पर पोस्ट शेयर कर विवेक के निधन पर शोक व्यक्त किया है। उन्होंने लिखा, "जाने माने एक्टर विवेक के यूं चले जाने से कई लोग दुखी हैं। उनकी कॉमिक टाइमिंग और इंटेलिजेंट डायलॉग्स ने दर्शकों का मनोरंजन किया। उनकी फिल्मों और उनकी जिंदगी, दोनों में ही उन्होंने समाज और पर्यावरण को लेकर चिंता जताई थी। उनके परिवार, दोस्तों और प्रशंसकों के प्रति मेरी संवेदनाएं। ओम शांति।''

रिपोर्ट्स के मुताबिक, विवेक को घर पर दिल का दौरा पड़ा था। जिसके बाद उन्हें तुरंत ही वाडापलानी के SIMS अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उनके मेडिकल चेकअप में यह बात सामने आई थी कि उनके दिल में खून पहुंचाने वाले ब्लड वैसेल ब्लॉक हो गए हैं। रिपोर्ट में कहा गया है कि उन्हें डॉक्टर्स से ECMO ट्रीटमेंट मिल रहा था। वे ICU में डॉक्टर्स की निगरानी में थे।

डॉक्टरों के मुताबिक सीने में दर्द की शिकायत के बाद विवेक को अस्पताल लाया गया था। जबकि दर्द से वह अपने घर पर ही वे बेहोश हो गए थे। डॉक्टरों ने बताया कि उन्हें दिल का दौरा पड़ा था, जिसकी वजह से लेफ्ट कोरोनरी ब्लड वैसेल में 100% ब्लॉकेज हो गया था। साथ ही यह भी बताया जा रहा है कि विवेक ने दो दिन पहले गुरुवार को ओएमंदुरार के एक सरकारी अस्पताल में COVID-19 वैक्सीन का पहला डोज लगवाया था। वहीं लोगों ने यह अफवाह फैलाना चालू कर दिया था कि वैक्सीन के कारण ही विवेक को हार्ट अटैक आया है। हालांकि, डॉक्टरों ने बताया था कि विवेक की तबीयत खराब होने का कारण वैक्सीन नहीं है। विवेक की रिपोर्ट्स में यह भी बताया गया है कि वे कोरोना से संक्रमित भी नहीं पाए गए थे।