कश्मीर पर अपनी पहली टिप्पणी में तालिबान के प्रवक्ता जबीउल्लाह मुजाहिद ने कहा है कि पाकिस्तान और भारत को अपने सभी लंबित मुद्दों को सुलझाने के लिए एक साथ बैठना चाहिए, क्योंकि दोनों पड़ोसी हैं और उनके हित एक-दूसरे से जुड़े हुए हैं। मुजाहिद ने यह टिप्पणी पाकिस्तानी टीवी चैनल एआरवाई न्यूज के साथ एक व्यापक साक्षात्कार के दौरान की।

एआरवाई न्यूज के अनुसार, जम्मू एवं कश्मीर के मुद्दे पर, मुजाहिद ने कहा कि नई दिल्ली को ‘विवादित क्षेत्र के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण’ रखने की जरूरत है। मुजाहिद ने देशों विशेषकर भारत के साथ संबंधों के बारे में कहा कि तालिबान भारत सहित सभी देशों के साथ अच्छे संबंध चाहता है, जो इस क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। उन्होंने कहा, हमारी इच्छा है कि भारत अपनी नीति अफगान लोगों के हितों के अनुरूप बनाए। उन्होंने स्पष्ट शब्दों में कहा कि तालिबान किसी अन्य देश के खिलाफ अफगान धरती का इस्तेमाल नहीं होने देगा।

एआरवाई न्यूज ने बताया कि तालिबान के प्रवक्ता ने अपना विचार साझा करते हुए कहा कि पाकिस्तान और भारत को अपने सभी लंबित मुद्दों को हल करने के लिए एक साथ बैठना चाहिए, क्योंकि दोनों पड़ोसी हैं और उनके हित एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। मुजाहिद ने कहा कि समूह, जो अब अफगानिस्तान पर शासन कर रहा है, पाकिस्तान को अपना दूसरा घर मानता है और वह अफगानिस्तान की धरती पर ऐसी किसी भी गतिविधि की अनुमति नहीं देगा, जो पाकिस्तान के हितों के खिलाफ हो।