अफगानिस्तान के की राजधानी काबुल पर कब्जा करने के बाद तालिबान के लड़ाकों वहां के टोलो न्यूज के परिसर में छापेमार कार्रवाई की। न्यूज चैनल के कंपाउंड में तालिबान लड़ाकों की ओर से छापा मारे जाने की जानकारी खुद टोलो न्यूज ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल से दी है।

न्यूज चैनल की ओर से किए गए ट्वीट में कहा गया है कि तालिबान के कंपाउंड में हथियारों के साथ आए थे। तालिबान के लोगों ने अफगान सरकार की तरफ से दिए चैनल को दिए गए हथियार ले लिए हैं और न्यूज चैनल को सुरक्षा का आश्वासन दिया है। चैनल के कंपाउंड में तालिबान की ओर से छापेमारी का एक फोट भी शेयर किया है। जिसमें दर्जन भर से अधिक तालिबानी लड़ाके हाथ में बंदूक लिए नजर आ रहे हैं।

बता दें कि अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर जा चुके हैं। राष्ट्रपति भवन पर तालिबान के लड़ाकों ने कब्जा जमा लिया है। संकट में घिरे अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा है कि वह काबुल छोड़कर इसलिए चले गए ताकि वहां खून-खराबा और 'बड़ी मानवीय त्रासदी न हो। उन्होंने तालिबान से कहा कि वह अपने इरादे बताए और देश पर उसके कब्जे के बाद अपने भविष्य को लेकर अनिश्चय की स्थिति में आए लोगों को भरोसा दिलाए।

दरअसल, गनी के देश छोड़ कर चले जाने से करीब दो दशक बाद तालिबान के अफगानिस्तान की सत्ता पर फिर से कब्जा करने का मंच तैयार हो गया है। (अमेरिका में हुए) 11 सितंबर 2001 के आतंकी हमलों के बाद अमेरिका नीत सैन्य बलों ने तालिबान को अफगानिस्तान की सत्ता से अपदस्थ कर दिया था।