अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे का पाकिस्तान ने खुलकर समर्थन किया। पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान ने तालिबान की वापसी को गुलामी की जंजीरों को तोड़ने वाला बताया था। वहीं अब तालिबानियों की पैठ पाकिस्तान में बढ़ती जा रही है। 

इसके सबूत अमरीकी रक्षा खुफिया एजेंसी की रिपोर्ट से मिले हैं। तालिबान लड़ाकों ने सीमावर्ती पाकिस्तान इलाकों में घुसकर वहां के दुकानदारों से वसूली शुरू कर दी है। रिपोर्ट के अनुसार सीमाई इलाकों के दुकानदारों से तालिबानी करीब 50 डॉलर या उससे अधिक की वसूली कर रहे हैं।

अमरीकी रक्षा खुफिया एजेंसी की तिमाही रिपोर्ट में खुलासा हुआ कि तालिबानी अब खुलेआम पाकिस्तान के बाजारों में घूम रहे हैं। उन्होंने वहां से चंदा इकट्ठा करने की गतिविधियां बढ़ा दी हैं। पाकिस्तानी सीमा पार से उन्हें अब ज्यादा आर्थिक सहयोग मिल रहा है। रिपोर्ट में स्थानीय दुकानदारों के हवाले से कहा गया कि तालिबानियो की पहुंच क्वेटा, कुचलाक बाइपास, पश्तून अबाद, इशकाबाद और फरुकिया जैसे इलाकों में है। रिपोर्ट का दावा है कि तालिबानियों को पहले पाकिस्तान की मस्जिदों से चंदा मिलता था, पर हाल के दिनों में उन्होंने खुद को आर्थिक रूप से और ज्यादा मजबूत करने के लिए स्थानीय बाजारों में वसूली करना शुरू किया है।