स्वास्थ्य को बनाए रखने के लिए चाय बहुत फायदेमंद है। हो सकता है बीमारियों से बचने के लिए आप कई तरह की हर्बल और नेचुरल टी पहले ही ट्राय कर चुके हों, लेकिन इन दिनों मार्केट में एक नई प्रकार की चाय की चर्चा है, जिसका नाम है बोबा टी।

यह चाय न केवल अपने स्वाद के लिए जानी जाती है, बल्कि इसे पीने से स्वास्थ्य से जुड़े लाभ भी मिलते हैं। वैसे तो यह चाय ताइवान में काफी पॉपुलर है, लेकिन अब भारत में भी नेचुरल टी के रूप में इसका इस्तेमाल हो रहा है। तो चलिए जानते हैं, बोबा टी के स्वास्थ्य लाभों के बारे में।

बोबा टी को बबल-टी और पर्ल मिल्क टी भी कहते हैं। इस चाय को काले, सफेद और हरे रंग के बेस के साथ बनाया जाता है। फिर दूध के साथ मिलाकर इसमें चबाने वाले टैपिओका मोती मिलाए जाते हैं। ये मोती चाय के ऊपर तैरते बुलबुले की तरह दिखते हैं। यह पारंपरिक चाय अक्सर तैयार बोबा को लेयर्ड करके बनाई जाती है। मीठे स्वाद के साथ फिसलन वाली बनावट बोबा टी की खासियत है।

इसकी एक और खासियत है कि यह कई फ्लेवर्स और कॉम्बिनेशन में आती है। कई प्रकार के फल, सिरप, हलवा, जेली और मेवा हैं, जिन्हें बबल टी में मिलाया जा सकता है। इसे मलाईदार बनाने के लिए किसी प्रकार की क्रीम का इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस तरह की चाय का स्वाद पूरी तरह से फल के सिरप या फ्लेवर्स पर निर्भर करता है। इसका स्वाद मीठे और सैकरीन से लेकर अखरोट या मिट्टी जैसा हो सकता है। कुछ किस्मों में कड़वा और खट्टापन भी महसूस होता है। इसके कुछ पॉपुलर फ्लेवर्स में पैशन फ्रूट, आम, स्ट्रॉबैरी, केला, तरबूज, अदरक, चॉकलेट और कीवी शमिल हैं।