ताइपे। ताइवान के राष्ट्रपति सु त्सेंग-चांग ने रविवार को 'क्रूर' लॉकडाउन लागू करने के लिए चीन की जमकर खिंचाई की और कहा कि ताइपे इसकी बजाय नए दृष्टिकोण के साथ कोविड के मामलों में वृद्धि से निपटेगा। अंग्रेजी दैनिक 'द इंडिपेंडेंट' के अनुसार ताइवान में कोविड -19 मामलों की संख्या तेजी से रही है। 

यह भी पढ़े : IPL 2022 में मुंबई इंडियंस को मिली पहली जीत, ईशान किशन ने कहा- यह समय एक-दूसरे के साथ खड़े रहने का है


वर्ष की शुरूआत से ओमिक्रॉन वेरिएंट के 75,000 संक्रमणों के साथ, कोरोना संक्रमण के कुल मामले शुक्रवार को 1,00,000 का आंकड़े को पार कर गया। चांग ने कहा कि महामारी को नियंत्रित करने के लिए ताइवान के उपायों की 'दुनिया ने प्रशंसा की।' इस योजना के तहत कोविड -19 मामलों की वृद्धि को रोकने की योजना है। द इंडिपेंडेंट के अनुसार, मार्च के बाद से मामलों में 40 प्रतिशत से अधिक की वृद्धि हुई है, भले ही कोरोन के लगभग सभी वेरिएंट हल्के या बिना किसी लक्षण के हों। 

यह भी पढ़े : Monthly Horoscope May 2022: ग्रहों का उलटफरे इन राशिवालों को आर्थिक लाभ दिलाएगा, इन राशियों के लिए जोखिम भरा रहेगा ये महीना

इस बीच, मृत्यु दर महज 0.8 प्रतिशत रही है। चांग ने कहा, 'हम चीन की तरह देश और शहरों को इतनी बेरहमी से बंद नहीं करेंगे। हमारे पास एक योजना है और उसमें एक लय है।' उन्होंने लाखों लोगों को लॉकडाउन में डालने के लिए चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग के नेतृत्व वाली सरकार की खिंचाई की। द इंडिपेंडेंट ने बताया कि ताइवान सरकार ने चीन के कड़े शून्य-सहिष्णुता ²ष्टिकोण से हटकर 'नए ताइवान मॉडल' की घोषणा की है।