मंगलदै।  दरंग जिले के सिपाझार राजस्व चक्र का कुरुवाचापरी पुन : चर्चा के केंद्र में है । यहां पूर्व से ही करीब 77420 बीघा  भूमि में संदिग्ध नागरिकों के अवैध अतिक्रमण का आरोप लगता रहा है। इसके बाद भी दरंग जिला प्रशासन की व्यर्थता के कारण अतिक्रमण मुक्त नहीं हो पाया । 

इसके कारण राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा का केंद्र बने फूहरातोली के पास कुरुवा चापरी में पुन: संदिग्ध बांग्लादेशियों ने करीब पांच हजार बीघा खेती की जमीन को दखल कर लिया है। इसे देखते हुए कुरुवा आंचलिक छात्र संघ ने दरंग जिला उपायुक्त को इस संबंध में उच्व स्तरीय जांच कर 10 नवंबर से पहले जरूरी कदम उठाने की मांग की थी। 

लेकिन प्राप्त आरोपों के अनुसार दरंग जिला प्रशासन ने आसूकी इस मांग को अनसुना कर दिया । इसी को लेकर जिला प्रशासन को ठेंगा दिखाते हुए कुरुवा आंचलिक आसू  ने कुरुवा चापरी में अवैध अतिक्रमण के खिलाफम कदम उठाया और इस पांच हजार बीघा के इस विशाल भूखंड में जितने भी अवैध एवं संदिग्ध घर थे, अधिकांश को तोड़ डाला और पुरे अंचल को अतिक्रमण मुक्त करने का प्रयास किया । 

इस संबंध में आसू के कार्यकर्ताओं ने कहा कि सरकार फूहरातली को एक सप्ताह में अतिक्रमण मुक्त करें, अन्यथा यह कार्य भी आसू ही करेगा  ।