बिहार के गोपालगंज और बेतिया में बीते दो दिनों में कुल 25 लोगों की संदिग्ध (25 people have died under suspicious circumstances)  परिस्थिति में मौत हो गई है।  बुधवार और गुरुवार को मिलाकर गोपालगंज में 17 और बेतिया में आठ लोगों की जान गई है।  परिजनों ने जहरीली शराब पीने से मौत की बात कह रहे हैं। 

हालांकि प्रशासन की ओर से इसकी पुष्टी नहीं की गई है।  इधर, संदिग्ध परिस्थिति में हुई मौत पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Bihar Chief Minister Nitish Kumar) ने कहा कि गड़बड़ चीज पीजिएगा तो यही सब ना होगा।  उन्होंने कहा कि जहां भी शराब चल रही है वहां भी इन्हीं सब चीजों से गड़बड़ होती रहती है।  कोई गड़बड़ तरह से पिला देगा और चले जाइएगा। 

सिर्फ गोपालगंज की बात करें तो बुधवार को दस लोगों की मौत हुई थी।  आज गुरुवार को मौतों की संख्या बढ़ी है. गुरुवार को फिर सात लोगों की मौत हो गई है।  घटना गोपालगंज जिले के मोहम्मदपुर थाने के अलग-अलग गांव की है।  बुधवार को सात लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया था।  इनमें कई लोगों की आंखों की रोशनी चले जाने की बात बताई गई थी। 

वहीं बिहार के बेतिया में बुधवार की शाम से अब तक आठ लोगों की संदिग्ध मौत हो चुकी है।  बताया जाता है कि सबने बुधवार की शाम गांव के ही मुन्ना राम के यहां शराब पी थी जिसके बाद से सभी की तबीयत बिगड़ गई।  इसमें कुछ लोगों की घर पर ही मौत हो गई तो वहीं कुछ की मौत अस्पताल में हो गई।  करीब एक दर्जन लोग अभी भी निजी और सरकारी अस्पताल में भर्ती हैं जिनका इलाज किया जा रहा है।  ग्रामीणों के साथ-साथ परिजन भी जहरीली शराब से मौत होने की बात कह रहे हैं और स्थानीय पुलिस प्रशासन पर गंभीर आरोप लगा रहें हैं।