राज्यसभा के सभापति एम वेंकैया नायडू (Rajya Sabha Chairman M Venkaiah Naidu) ने मंगलवार को दो नवनिर्वाचित सदस्यों एस सेल्वागणपति और सुष्मिता देव (S Selvaganapathi and Sushmita Dev) को राज्यसभा की सदस्यता (Rajya sabha member) की शपथ दिलाई। केंद्र शासित प्रदेश पुड्डुचेरी (Puducherry) से चुनकर आए सेल्वागणपति ने तमिल में और पश्चिम बंगाल से चुनी गई देव ने बंगला भाषा में शपथ ली। 

नायडू ने नवनिर्वाचित सदस्यों द्वारा अपने राज्य में प्रचलित भाषा में शपथ लेने और सदन की कार्यवाही में देश की विभिन्न भाषाओं के बढ़ते इस्तेमाल का उल्लेख करते हुए कहा कि यह राज्यों की परिषद यानी राज्यसभा की भावना के अनुरूप है। उन्होंने सदस्यों से आग्रह किया कि वे 22 अधिसूचित भाषाओं में अनुवाद की सुविधा का लाभ उठाते हुए अपनी अपनी भाषाओं में अपने विचार रखें। 

इस मौके पर संसदीय कार्य मंत्री प्रह्लाद जोशी, अल्पसंख्यक मामलों के मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी, राज्यसभा के महासचिव पीपीके रामाचार्युलू और सचिवालय के अनेक वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।