बिहार के पूर्व उप मुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के राज्यसभा सदस्य सुशील कुमार मोदी ने आज आरोप लगाया कि कांग्रेस और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) जैसे विपक्षी दलों ने कोरोना वैक्सीन की गुणवत्ता पर सवाल खड़ा किया जिसके कारण ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की गति तेज नहीं हो पायी। 

मोदी ने सोमवार को कहा कि आपदा में राजनीति का अवसर खोजने वाले कांग्रेस-राजद जैसे विपक्षी दल भारतीय वैक्सीन की गुणवत्ता पर लगातार सवाल उठाने या इसका मजाक उड़ाने में लगे रहे, जिससे ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की गति तेज नहीं हो पायी। उन्होंने कहा कि कोई इसे भाजपा का टीका  कह रहा था, तो कोई प्रधानमंत्री को पहले कोवैक्सीन लगवाने की चुनौती दे रहा था। भाजपा नेता ने कहा कि प्रधानंमत्री नरेेंद्र मोदी सहित अनेक अतिविशिष्ट लोगों ने टीके लगवा कर जनता में विश्वास पैदा किया ।

 उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव को सरकार पर सवाल उठानेे से पहले बताना चाहिए कि लालू प्रसाद और श्रीमती राबड़ी देवी ने अभी तक कोरोना का टीका क्यों नहीं लिया।  मोदी ने तेजस्वी यादव से यह भी बताने को कहा कि राजद के कितने विधायकों ने वैक्सीन लगवाई । उन्होंने सवाल किया कि क्या राजद ग्रामीणों-गरीबों को टीकाकरण से दूर रख कर उनकी जिंदगी को खतरे में डालना चाहता है । भाजपा सांसद ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि भारत सरकार ने कोरोना संक्रमण रोकने के लिए सबसे पहले देशव्यापी लॉकडाउन लागू किया, दो वैक्सीन साल भर के भीतर तैयार कराई और आज डीआरडीओ ने तीसरी दवा 2-जीडी भी लांच की। उन्होंने कहा कि केंद्र और राज्य सरकारों ने 114 दिनों में 17 करोड़ डोज देकर सबसे तेज मुफ्त टीकाकरण भी कराया।