पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के मामले में दिल्ली की तिहाड़ जेल में बंद पूर्व ओलंपियन सुशील कुमार ने गुरुवार को टोक्यो ओलंपिक में रवि दहिया का मुकाबला टीवी पर देखा। सुशील कुमार मुकाबला शुरू होने से पहले दोपहर से ही टीवी के सामने बैठे रहे और पल-पल रवि दहिया की कुश्ती देखते रहे। हालांकि, रवि को गोल्ड न मिलने की वजह से सुशील कुमार भावुक हो गए और आंखों से आंसू निकल आए।

रवि दहिया सुशील कुमार की ही देखरेख में छत्रसाल स्टेडियम में कुश्ती के दांव-पेच सीख रहे थे। रवि दहिया फाइनल मुकाबला हार गए। उन्हें रूस के पहलवान जावुर युगुऐव ने 7-4 से पराजित कर दिया। इस तरह से रवि दहिया को सिल्वर मेडल से ही संतोष करना पड़ा है। बता दें कि रवि को कुश्ती सिखाने वाले सुशील कुमार ने भी 2012 ओलंपिक में सिल्वर मेडल ही अपने नाम किया था। सुशील कुमार को तिहाड़ जेल के ओपन एरिया में टीवी की सुविधा दी है। वह अन्य कैदियों के साथ टोक्यो ओलंपिक देख सकते हैं। जब गुरुवार को गोल्ड मेडल के लिए रवि दहिया का मुकाबला था, तब सुशील दोपहर से ही टीवी के सामने फाइनल देखने के लिए बैठ गए थे। 

पिछले दिनों तिहाड़ जेल प्रशासन ने सुशील कुमार के वॉर्ड के कॉमन एरिया में टीवी लगाने की अनुमति दी थी। सुशील कुमार ने टीवी पर ओलंपिक देखने की इच्छा जाहिर की थी। तिहाड़ जेल के डीजी ने बताया था कि पहलवान सुशील कुमार को तिहाड़ जेल में उसके वॉर्ड के कॉमन एरिया में बाकी कैदियों के साथ में टीवी मुहैया करवाने की अनुमति दी गई। आरोपी सुशील कुमार ने तिहाड़ जेल प्रशासन को पिछले महीने तिहाड़ जेल में टीवी मुहैया करवाए जाने को लेकर लेटर लिखा था। उसने टीवी की मांग करते हुए कहा था कि जेल में मन नहीं लग रहा है। अगर टीवी मिल जाए तो मन भी लगेगा और देश-दुनिया में होने वाली कुश्ती की अपडेट भी मिल जाएगी।