प्रवर्तन निदेशालय दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में एनसीबी के निष्कर्षों के आधार पर एक और मामला दर्ज कर सकता है। जबकि ईडी पहले ही मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज कर जांच कर रही है। यह मामला ईडी ने सुशांत के पिता द्वारा बिहार पुलिस में की गई शिकायत के बाद दर्ज किया था, जिसमें दिवंगत अभिनेता के खाते से अन्य बैंक खातों में 15 करोड़ रुपये ट्रांसफर करने का आरोप लगाया गया है।

वहीं एनसीबी मंगलवार को दिवंगत अभिनेता की प्रेमिका रिया चक्रवर्ती को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ कर रही है। ईडी के एक शीर्ष अधिकारी ने कहा है कि वित्तीय जांच एजेंसी एनसीबी के निष्कर्षों के आधार पर नया मामला दर्ज करने के लिए कानूनी सलाह ले रही है, क्योंकि एनसीबी का मामला एनडीपीएस अधिनियम के तहत दर्ज किया गया है। अधिकारी ने कहा, पहले हमने के.के.सिंह की शिकायत के आधार पर मामला दर्ज किया था, जो सुशांत के बैंक खाते से पैसे निकालने से जुड़ा था। जबकि नया मामला एनसीबी के निष्कर्षों पर आधारित होगा, क्योंकि इसमें कई गिरफ्तारियां भी हुई हैं।

उन्होंने आगे कहा कि ईडी ड्रग तस्करी और ड्रग खरीद के माध्यम से कमाए गए पैसे का एंगल भी देखेगा। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि ड्रग की बिक्री, खरीद और तस्करी के माध्यम से आए पैसे को नए मामले में आपराधिक तरीके से की गई कमाई माना जाएगा। अधिकारी ने यह भी कहा, ‘‘हम एनसीबी से उसकी जांच की कॉपी लेंगे और फिर उसका अध्ययन करेंगे। इसके बाद हम एक नया मामला दर्ज करने का फैसला लेंगे।’’ बता दें कि सुशांत 14 जून को बांद्रा स्थित अपने फ्लैट में मृत पाए गए थे। उनकी रहस्यमयी मौत की जांच तीन केंद्रीय जांच एजेंसियां कर रही हैं।

एनसीबी ने रिया, उसके भाई शोविक, गोवा स्थित होटल व्यवसायी गौरव आर्य, टैलेंट मैनेजर जया साहा और सुशांत के होम मैनेजर सैमुअल मिरांडा समेत अन्य के खिलाफ मामला दर्ज किया है। एजेंसी ड्रग्स खरीदने के आरोप में रिया, शोविक, मिरांडा और दीपेश सावंत को गिरफ्तार भी कर चुकी है। मुंबई की एक अदालत ने रिया को 22 सितंबर तक के लिए न्यायिक हिरासत में भेज दिया है।