अभिनेत्री रिया चक्रवर्ती सीबीआई जांच का सामना करने के लिए तैयार हैं और उनका मानना है कि सच्चाई वही रहेगी चाहे कोई भी एजेंसी मामले की जांच करे। यह बात सुप्रीम कोर्ट द्वारा बुधवार सुबह सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में सीबीआई जांच के आदेश देने के बाद उनके वकील ने कही।

वकील सतीश मानेशिंदे ने एक बयान में कहा, सुप्रीम कोर्ट ने मामले के तथ्यों और परिस्थितियों और मुंबई पुलिस की जांच रिपोर्ट देखने के बाद यह महसूस किया कि मामले की सीबीआई जांच करना ही उचित होगा क्योंकि रिया खुद सीबीआई जांच की मांग कर चुकी हैं। वहीं, सुप्रीम कोर्ट ने यह भी देखा कि दोनों राज्यों द्वारा एक-दूसरे के खिलाफ राजनीतिक हस्तक्षेप के आरोप लगाने के चलते यह मामला सीबीआई को सौंपना ही न्याय के हित में होगा।

मानेशिंदे ने आगे कहा, चूंकि अदालत ने संविधान के अनुच्छेद 142 के तहत अपनी शक्तियों का उपयोग करते हुए जांच सीबीआई को स्थानांतरित कर दी है तो रिया वैसे ही सीबीआई जांच का सामना करेंगी जैसे कि उन्होंने पहले मुंबई पुलिस और प्रवर्तन निदेशालय की जांच का किया है। रिया का कहना है कि सत्य वही रहेगा चाहे कोई भी एजेंसी इस मामले की जांच करे। बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत 14 जून को मुंबई में अपने आवास पर मृत पाए गए थे।

उधर, भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने सुशांत सिंह राजपूत की रहस्यमय आत्महत्या के मामले में उच्चतम न्यायालय द्वारा सीबीआई जांच के आदेश देने की सराहना की है। स्वामी ने ट्विटर पर लिखा, ‘‘सीबीआई जय हो’’। बता दें कि स्वामी ने 16 अगस्त को दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत को हत्या करार दिया था। वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बुधवार को सुशांत सिंह राजपूत मामले की जांच सीबीआई से कराने के सर्वोच्च न्यायालय फैसले पर कहा कि बिहार में कानून के अनुसार ही काम हुआ है। उन्होंने इस मामले में किसी प्रकार की राजनीति से भी इनकार किया।