सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में मनी लॉन्ड्रिंग एंगल से अपनी जांच को बढ़ाते हुए प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने दिवंगत बॉलीवुड अभिनेता के निजी स्टाफ को तलब किया है। ईडी सूत्रों के मुताबिक, वित्तीय जांच एजेंसी ने सुशांत के रसोइया, ड्राइवर और बॉडीगार्ड को पूछताछ के लिए तलब किया है।सूत्रों ने कहा कि उन्हें एजेंसी के सामने पेश होने के लिए कहा गया है। ईडी उन लोगों के बारे में जानना चाहता है जो पिछले एक साल में सुशांत से मिले, कौन-कौन उनके घर पर थे, क्या कोई मीटिंग हुई थी और अगर हुई थी तो उसमें क्या-क्या बातें हुई थीं।

एजेंसी उनसे यह भी पूछेगी कि सुशांत की मौत के बाद उनके मृत शरीर को किसने सबसे पहले देखा था।ईडी यह जानना चाहता है कि क्या वित्तीय मसलों पर चर्चा हुई थी और दिवंगत अभिनेता के साथ रिया और उसके परिवार के सदस्यों का व्यवहार कैसा था। ईडी ने उनकी प्रेमिका रिया चक्रवर्ती और उनके परिवार के सदस्यों के खिलाफ बिहार पुलिस की प्राथमिकी के आधार पर 31 जुलाई को मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया था। बिहार पुलिस ने सुशांत के पिता के.के. सिंह की शिकायत पर 25 जुलाई को प्राथमिकी दर्ज की थी।

सिंह ने अपनी शिकायत में अपने बेटे के कोटक महिंद्रा बैंक खाते से कुछ अज्ञात बैंक खातों में 15 करोड़ रुपये के लेनदेन का आरोप लगाया था। ईडी ने इस मामले में अब तक मुंबई में रहने वालीं सुशांत की बहन मीतू सिंह, गर्लफ्रेंड रिया, उनके (रिया) पिता इंद्रजीत, भाई शोविक, सुशांत के पूर्व मैनेजर और रिया की मैनेजर श्रुति मोदी, सुशांत के हाउस मैनेजर सैमुअल मिरांडा, अभिनेता के फ्लैटमेट सिद्धार्थ पिठानी, चार्टर्ड अकाउंटेंट संदीप श्रीधर और रिया के सीए रितेश शाह के बयान दर्ज किए हैं।