बिहार में सुशांत की मौत चुनावी मुद्दा बन चुकी है जिसके तहत BJP ने ऐसा स्टीकर छपवाया है जिसमें लिखा है कि ना भूले हैं...ना भूलने देंगे..। इसी के साथ ही बिहार में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर राजनीतिक पार्टियों ने अपनी पैतरेबाजी शुरू कर दी है। भाजपा ने दिवंगत फिल्म एक्टर सुशांत सिंह राजपूत को चुनावी मुद्दा बनाने की रणनीति तैयार की है। शायद यही वजह है कि बीजेपी में कला संस्कृति प्रकोष्ठ के बिहार संयोजक वरुण कुमार सिंह ने सुशांत सिंह की तस्वीर साझा करते हुए कहा है कि ना भूले हैं, ना भूलने देंगे। तस्वीर के ऊपर जस्टिस फॉर सुशांत लिखा है।

बिहार में बीजेपी ने 30 हजार स्टिकर और 30 हजार मास्क भी बनवाए थे, जिसे बांटा गया है। वरुण कुमार सिंह का कहना है कि सुशांत सिंह राजपूत को न्याय दिलाने के लिए वो पिछले 16 जून से ही अभियान चला रहे हैं। उन्होंने आगे बताया कि 14 जून की घटना के बाद से सुशांत को इंसाफ दिलाने के लिए उनके अलावा करणी सेना ने भी स्टीकर और मास्क बनाकर लोगों को बांटे हैं।
वरुण कुमार सिंह ने एक पोस्टर जारी किया है, जिसमें दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मुस्कुराती हुई फोटो लगी है। फोटो के ऊपर जस्टिस फॉर सुशांत लिखा है और नीचे लिखा है- ना भूले हैं, ना भूलने देंगे। इस फोटो पर बीजेपी का चुनाव चिन्ह कमल का भी निशान है, जिसके नीचे लिखा है कला एवं संस्कृति प्रकोष्ठ, भाजपा, बिहार प्रदेश।
बिहार बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल का कहना है कि बीजेपी सुशांत सिंह राजपूत मामले की निष्पक्ष जांच चाहती है। बता दें, सुशांत राजपूत के मामले में सीबीआई की जांच चल रही है। शुक्रवार को ड्रग्स कनेक्शन को लेकर NCB ने बड़ी कार्रवाई करते हुए रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक और सैमुअल मिरांडा को गिरफ्तार किया था। जिसके बाद शनिवार को कोर्ट ने दोनों को 9 सितंबर तक कस्टडी में रखने का आदेश दिया है।