उच्चतम न्यायालय (Supreme Court) ने ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’ (Gangubai Kathiawadi) फिल्म की रिलीज पर रोक लगाने की मांग वाली एक याचिका गुरुवार को खारिज कर दी। आलिया भट्ट (Alia Bhatt)-स्टारर भंसाली प्रोडक्शंस की यह फिल्म शुक्रवार को रिलीज होने वाली है। दुनिया भर में रिलीज होने वाली यह फिल्म रेड लाइट एरिया (red light area) में सेक्स वर्कर एक महिला के जीवन उत्थान की कहानी पर आधारित है। 

ये भी पढ़ें

रूस को कितनी टक्कर दे पाएगा यूक्रेन, जानिए कितनी ताकतवर है दोनों देशों की सेनाएं


न्यायमूर्ति इंदिरा बनर्जी और न्यायमूर्ति जे के माहेश्वरी की पीठ ने बॉम्बे उच्च न्यायालय के आदेश के खिलाफ गंगूबाई के दत्तक पुत्र होने का दावा करने वाले बाबूजी रावजी शाह (Babuji Raoji Shah) द्वारा दायर याचिका खारिज कर दी। उच्च न्यायालय ने मुंबई की एक अदालत द्वारा अभिनेत्री आलिया भट्ट, गंगूबाई काठियावाड़ी के निर्माता एवं उपन्यास के लेखक एस हुसैन जैदी (S Hussain Zaidi) और जेन बोर्गेस के खिलाफ आपराधिक मानहानि की शिकायत मामले में जारी समन पर रोक का आदेश दिया था। 

ये भी पढ़ें

घर से सिर्फ ओवरसाइज शर्ट संग स्वेटर पहनकर निकलीं मलाइका अरोड़ा, पैंट पहनना भूलीं, यूजर्स ने लगा दी क्लास


शीर्ष अदालत और उच्च न्यायालय में याचिका दायर करने वाले बाबूजी रावजी शाह (Babuji Raoji Shah) का आरोप है कि फिल्म में कथित तौर पर नायक और उसके परिवार को अपमानित करने की सामग्री है। ‘दत्तक पुत्र’ ने वकील अरुण कुमार सिन्हा और राकेश सिंह के माध्यम से दायर अपनी याचिका में दावा किया कि उपन्यास और फिल्म ने उनकी, उनकी स्वर्गीय मां और परिवार के अन्य सदस्यों की छवि खराब की है। इन तथ्यों पर गौर करते हुए उच्च न्यायालय को उपन्यास द माफिया क्वींस ऑफ मुंबई या फिल्म ‘गंगूबाई काठियावाड़ी’  (Gangubai Kathiawadi) की छपाई, प्रचार, बिक्री, असाइनमेंट आदि के खिलाफ अस्थाई निषेधाज्ञा का आदेश देना चाहिए था। 

फिल्म निर्माता का पक्ष रख रहे वकील ने दावा किया कि फिल्म में कोई भी अपमानजनक सामग्री नहीं है। इस फिल्म में गंगूबाई (Gangubai Kathiawadi) का महिमामंडन किया। उनकी एक प्रतिमा भी स्थापित है। उन्होंने यह भी कहा कि फिल्म के बारे में सात महीने से अधिक समय से प्रचार किया जा रहा है तथा यह तमाम सोशल मीडिया छाया हुआ है। पीठ ने बुधवार की सुनवाई के दौरान फिल्म निर्माता से जानना चाहा था कि कि क्या फिल्म का शीर्षक बदलना संभव है। इस सवाल का जवाब देते हुए फिल्म निर्माता के वकील ने कहा था कि रिलीज से कुछ दिन बचे हुए हैं। इन वक्त पर ऐसा करना संभव नहीं है।