बंगाल की खाड़ी से उठे चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ पूरे भारत में तबाही का माहौल बना रहा है। मौसम विभाग के मुताबिक करीब 190 किलोमीटर प्रति घंटा की रफ्तार से पश्चिम बंगाल के दीघा और बांग्लादेश के हटिया द्वीप के बीच जमीन से टकराया था। सुपर साइक्लोनिक तूफान करीब चार घंटे तक अपना प्रकोप दिखाया। इस दौरान तटीय इलाकों में 160 ये 170 किमी प्रति घंटा की रफ्तार से तूफान ने रफ्तार पकड़ी।


इस सुपर साइक्लोनिक तूफान से  पश्चिम बंगाल में और ओडिशा में अब तक 12 लोगों की मौत हो चुकी है। मौसम विभाग ने जानकारी दी कि चक्रवाती तूफान अम्फान पिछले 6 घंटों के दौरान 27 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से उत्तर-उत्तर-पूर्व की ओर बढ़ गया है। जानकारी दे दें कि ओडिशा में चक्रवात अम्फान के कारण भारी बारिश के बाद बालासोर के पतरापाड़ा क्षेत्र में फिर से दुकानें खुल गई हैं।


भारतीय मौसम विभाग के सुपर साइक्लोन तूफान को देखकर बताया कि चक्रवाती तूफान अम्फान रिकॉर्ड 18 घंटे में श्रेणी-1 से श्रेणी-5 के सुपर साइक्लोनिक तूफान में बदल गया है। हाल ही का अम्फान बीते 20 वर्षों में पूर्वी तट से टकराने वाला दूसरा सबसे शक्तिशाली तूफान बताया जा रहा है। इससे पहले 1999 में ओडिशा में आए तुफान ने भारी तबही मचाई थी जिसमें 15 हजार लोगों की मौत हो गई थी।