भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने शनिवार को घोषणा की कि लगातार गर्म हवाओं के कारण, उत्तर पश्चिम और मध्य भारत में अधिकतम तापमान पिछले 122 वर्षों में अप्रैल महीने में सबसे अधिक रहा। 28 अप्रैल, 2022 तक दर्ज किया गया तापमान (अधिकतम और औसत) पिछले 122 वर्षों में 35.05 डिग्री सेल्सियस के साथ चौथा उच्चतम है।

ये भी पढ़ेंः अब नहीं रहेंगे अवैध मजार, विश्व हिंदू परिषद ने कर दिया ऐसा बड़ा ऐलान


इससे पहले मार्च 2022 देश के साथ-साथ उत्तर पश्चिम भारत के लिए 122 वर्षों में सबसे गर्म था। अप्रैल 2022 के लिए उत्तर पश्चिम और मध्य भारत के लिए औसत अधिकतम तापमान 35.90 डिग्री सेल्सियस और 37.78 डिग्री सेल्सियस था। विभाग ने कहा कि मई में भी तापमान सामान्य से ऊपर बना रहेगा। आईएमडी महानिदेशक ( मौसम विज्ञान) मृत्युंजय महापात्र ने एक मीडिया सम्मेलन में बताया, मई के दौरान, पश्चिम-मध्य और उत्तर-पश्चिम भारत के अधिकांश हिस्सों और पूर्वोत्तर भारत के उत्तरी हिस्सों में सामान्य से अधिकतम तापमान रहने की संभावना है। देश के शेष हिस्सों में सामान्य से कम अधिकतम तापमान होने का संभावना है।

ये भी पढ़ेंः नाबालिग बेटी से रेप करता था हैवान पिता, अब कोर्ट ने कहाः तब तक लटका कर रखना, जब तक मर ना जाए


दक्षिण प्रायद्वीपीय भारत और चरम उत्तर पश्चिम भारत के कुछ हिस्सों में सामान्य से न्यूनतम तापमान की संभावना है। इस बीच, देश भर में मई में औसत बारिश सामान्य से अधिक होने की संभावना है (लंबी अवधि के औसत का 109 प्रतिशत से अधिक)। महापात्र ने कहा, उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ हिस्सों और पूर्वोत्तर भारत के कुछ हिस्सों के साथ-साथ चरम दक्षिणपूर्व प्रायद्वीप को छोडक़र भारत के अधिकांश हिस्सों में सामान्य या सामान्य से अधिक बारिश होने की संभावना है।