दिल्ली पुलिस की आर्थिक अपराध शाखा (ईओडब्ल्यू) ने करोड़पति ठग सुकेश चंद्रशेखर से जुड़े एक मामले में तिहाड़ जेल के 57 वर्षीय सहायक अधीक्षक को गिरफ्तार किया है। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार, सहायक अधीक्षक की पहचान प्रकाश चंद के रूप में हुई है। अधिकारी ने कहा कि उन्हें जेल में बंद अपराधी चंद्रशेखर को अपराध करने में मदद करने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है।

ये भी पढ़ेंः अब दिल्ली में उठी लाउडस्पीकर हटाने की मांग, केजरीवाल को लिखा ऐसा लेटर


जनवरी में ईओडब्ल्यू ने तिहाड़ जेल प्राधिकरण को एक पत्र लिखा था, जिसमें 82 जेल अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई थी, जिन्होंने कथित तौर पर चंद्रशेखर को जेल के अंदर लक्जरी सुविधाएं मुहैया करके मदद की थी।  अपराध शाखा द्वारा की गई जांच के दौरान, सात जेल अधिकारियों को गिरफ्तार किया गया, क्योंकि वे चंद्रशेखर द्वारा संचालित संगठित अपराध सिंडिकेट की सुविधा में शामिल पाए गए थे। ये रोहिणी जेल के बैरक नंबर 204, वार्ड नंबर 03, जेल नंबर 10 से इसका संचालन कर रहे थे। ईओडब्ल्यू ने प्राथमिकी दर्ज की थी और मामले की जांच कर रही है।

ये भी पढ़ेंः चीन की खतरनाक मिसाइल का चीनी सैनिकों ने वीडियो जारी कर शक्तिशाली देशों के उड़ाए होश


आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने मनी लॉन्ड्रिंग जांच में अभिनेत्री की सात करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की है।  पिछले साल दिसंबर में ईडी ने पीएमएलए अधिनियम के तहत आरोप पत्र दायर किया था, जिसमें जैकलीन सहित कुछ बॉलीवुड अभिनेताओं को कॉनमैन सुकेश चंद्रशेखर के मनी लॉन्ड्रिंग मामले में गवाह के रूप में नामित किया गया था। अदालत ने आरोप पत्र दाखिल होने के तुरंत बाद उसका संज्ञान लिया था और एजेंसी से सभी आरोपियों को आरोप पत्र की प्रति उपलब्ध कराने को कहा था। कुछ समय पहले जैकलीन और कॉनमैन सुकेश की आरामदायक तस्वीरें इंटरनेट पर सामने आई थीं, जिसके बाद अभिनेत्री ने एक बयान जारी कर मीडिया से गोपनीयता का अनुरोध किया। एक्ट्रेस ने साफ तौर पर कहा कि इससे उनकी प्राइवेसी और पर्सनल स्पेस में सेंध लगी है। जैकलीन ने अपने इंस्टाग्राम नोट में 'रफ पैच' से गुजरने के बारे में भी बताया।