पश्चिम बंगाल में विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सियासी लड़ाई अब पारिवारिक लड़ाई बनती जा रही है। इसी के चलते बीजेपी सांसद सौमित्र खान की पत्नी सुजाता मंडल खान के तृणमूल कांग्रेस में शामिल होते ही आपसी कलह शुरू हो गई है। पत्नी सुजाता के टीएमसी से जुड़ने के बाद भाजपा सांसद सौमित्र खान अब तलाक लेने की सोच रहे हैं। उन्होंने पत्नी सुजाता को तलाक नोटिस भेज दिया है। सौमित्र खान बिश्नुपुर से सांसद हैं और साथ ही भारतीय जनता युवा मोर्चा के अध्यक्ष भी हैं।

सुजाता मंडल ने परिवार झगड़े का खुलासा करते हुए कोलकाता में आयोजित टीएमसी की प्रेस कॉन्फ्रेंस में पार्टी जॉइन की। अब बिश्नुपुर सांसद सौमित्र खान ने उन्हें तलाक नोटिस भेजने का निर्णय लिया है। तलाक नोटिस भेजने के फैसला लेने के दौरान सुजाता खान की कार और बरजोरा स्थित घर की सुरक्षा वापस ले ली गई है।

टीएमसी में शामिल होने के बाद सुजाता खान ने कहा कि बीजेपी लोगों का सम्मान और आदर नहीं करती है। उन्होंने कहा, 'वहां केवल मौकापरस्त और भ्रष्ट लोगों का ही बोलबाला है। बीजेपी में मेरी कोई इज्जत नहीं थी।'

सुजाता खान का आरोप है कि भाजपा में नए लोगों, अनुपयुक्त और भ्रष्ट नेताओं को वफादारों से ज्यादा तरजीह दी जा रही है। टीएमसी सांसद सौगता रॉय और प्रवक्ता कुणाल घोष की मौजूदगी में टीएमसी में शामिल हुईं सुजाता खान ने कहा, 'पति को संसद पहुंचाने के लिए मैंने शारीरिक हिंसा सही, त्याग किया लेकिन बदले में मुझे कुछ नहीं मिला। मैं हमारी प्रिय नेता ममता बनर्जी और दादा अभिषेक बनर्जी के नेतृत्व में काम करना चाहती हूं।'

2019 लोकसभा चुनाव के दौरान एक कोर्ट केस के चलते सौमित्र को उनके निर्वाचन क्षेत्र में जाने से रोक लगा दी गई थी। तब सुजाता ने अपने पति के लिए चुनाव प्रचार किया था। सुजाता के फैसले पर सौमित्र की प्रतिक्रिया पूछने पर उन्होंने कहा कि उन्हें आगे क्या करना है, यह फैसला खुद उन्हें करना है।

सुजाता ने कहा कि एक दिन वह जरूर महसूस करेंगे और क्या मालूम कि एक दिन वह टीएमसी में वापस लौट आएं। बता दें कि सौमित्र खान ने पिछले साल लोकसभा चुनाव से पहले ही बीजेपी में शामिल हुए थे। वह मुकुल रॉय के बेहद करीबी माने जाते हैं जो पहले ही बीजेपी से जुड़ चुके हैं।