हिमाचल प्रदेश के कांगडा में मॉनसून की भारी बारिश के दौरान एक पर्यटक सूफी गायक मनमीत सिंह सहित अब तक पांच लोगों की मौत हो गयी। कांगड़ा में सोमवार को हुई भारी बारिश में पंजाब के सूफी गायक मनमीत सिंह का करेरी लेक के समीप शव बरामद हुआ है। इसकी पुष्टि कांगडा के उपायुक्त डॉ निपुण जिंदल ने की है। 

उन्होंने पत्रकारों को बताया कि कांगडा में भारी बारिश से हुई तबाही में नौ साल की बच्ची सहित 11 लोगों के मरने की आशंका है। अभी तक पांच लोगों के शव बरामद किए है जिनमें एक सूफी गायक मनमीत सिंह शामिल है। उन्होंने बताया कि मनमीत सिंह अपने दोस्तों और भाइयों के साथ धर्मशाला घूमने आए थे। पंजाब के अमृतसर छेहर्टा के रहने वाले मनमीत सिंह के साथ उनका भाई कर्णपाल सिंह उर्फ केपी सिंह भी था। सोमवार को आई आसमानी आफत में ये लोग भी फंस गये थे। घर लौटते समय करेरी लेक से नीचे पड़ने वाले नाले को क्रॉस करते वक्त मनमीत का पैर फिसला और वे नाले में जा गिरे। 

उस समय पानी का बहाव बहुत तेज था। स्थानीय लोगों ने उनकी बहुत तलाश की लेकिन कुछ पता नहीं चल पाया। अगले दिन बहुत नीचे जाकर उनका शव बरामद हुआ है। हादसे की सूचना पाकर मनमीत सिंह के परिजन धर्मशाला पहुंच गए हैं। जिंदल ने कहा कि बोह गांव में चार और लापता ग्रामीणों जिनमें दो पुरुष, एक महिला और एक बच्चे के शव मलबे से बरामद किए गए। एक महिला के शव का पता चला जिससे बोह में अब तक हुई भूस्खलन त्रासदी में मरने वालों की संख्या पांच हो गई है। उपायुक्त ने कहा कि पांच लोग अभी भी लापता हैं और तलाशी अभियान बुधवार सुबह साढ़े छह बजे शुरू कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि प्रशासन ने आशंका जताई है कि सोमवार को आई बाढ़ में एक नौ साल की बच्ची सहित 11 लोगों की मौत हो गई है। वहीं पुलिस अधीक्षक कांगडा विमुक्त रंजन ने बताया कि आज सुबह सूफी गायक के शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है। मनमीत सिंह का सिंगिग ग्रुप सेन ब्रदर्स के नाम से मशहूर है और वह देश व विदेश में शो करते रहे हैं।