केरल में एक ऐसा ही मंदिर है। जो केतु को समर्पित है।  यह मंदिर कीजापेरूमपल्लम गांव में स्थित है।  इसकी खास बात यह है कि इसमें दूध चढ़ाने पर इसका रंग नीला हो जाता है।  इस मंदिर को नागनाथस्वामी मंदिर(Nagnathswamy Temple) के नाम से जाना जाता है।  इसे केति स्थल(Kethu Sthalam) भी कहा जाता है।  

यह मंदिर कावेरी नदी के तट पर स्थित है।  इस मंदिर के कई रहस्य हैं।  रहस्य के ही चलते यह मंदिर लोगों के बीच बड़ी मान्यता रखता है।  भले ही ये मंदिर केतु को समर्पित है लेकिन मंदिर के प्रमुख भगवान शिव हैं।  इसीलिए इस मंदिर को नागनाथ के नाम से भी जाना जाता है। 

इस मंदिर में राहु के ऊपर दूध चढ़ाने के लिए लोग दूर-दूर से आते हैं।  हैरान कर देने वाली बात यह है कि मंदिर में कुछ लोगों के दूध चढ़ाने पर दूध का रंग सफेद से बदलकर नीला हो जाता है।  मान्यता है कि जो लोग केतु ग्रह के दोष से पीड़ित होते हैं उनके द्वारा ही केवल चढ़ाए गए दूध का ही रंग बदलता है।