कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु में एक केमिकल के गोदाम में हुए जोरदार धमाके में कम से कम तीन लोगों की मौत हो गयी और 4 अन्य गंभीर रूप से घायल हो गये।  बेंगलुरु शहर के न्यू थारागुपेट इलाके में यह धमाका गुरुवार को दोपहर में हुआ. लोगों ने कहा कि धमाके की आवाज दो किलोमीटर दूर तक सुनी गयी. ऐसा लगा मानो बेंगलुरु में भूकंप आ गया हो। 

बेंगलुरु के डीसीपी (साउथ) हरीश पांडेय ने बताया कि गुरुवार को दोपहर में एक पंक्चर बनाने की दुकान के पास स्थित ट्रांसपोर्ट के गोदाम में जोरदार विस्फोट हुआ।  इसमें पंक्चर दुकान में काम करने वाले दो लोगों समेत तीन की मौत हो गयी।  चार लोग गंभीर रूप से घायल हो गये।  वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने कहा है कि मृतकों और घायलों की पहचान हो चुकी है। 

डीसीपी श्री पांडेय ने कहा कि संभवत: किसी केमिकल की वजह से यह विस्फोट हुआ है, जिसे किसी औद्योगिक संस्थान में भेजा जाना था। उन्होंने कहा कि जिस केमिकल की वजह से इतना बड़ा विस्फोट हुआ, उसके 60 पैकेट अभी भी गोदाम के अंदर हैं।  डीसीपी ने कहा कि फॉरेंसिक विभाग के एक्सपर्ट घटनास्थल की जांच करेंगे।  उसके बाद ही स्पष्ट हो पायेगा कि विस्फोट की असल वजह क्या थी। 

डीसीपी हरीश पांडेय ने कहा कि केमिकल के मालिक की पहचान करने की कोशिश की जा रही है।  यह भी पता लगाया जा रहा है कि किस केमिकल की वजह से इतना बड़ा हादसा हो गया।  हालांकि, श्री पांडेय ने स्पष्ट किया कि यह सिलेंडर ब्लास्ट नहीं था। पटाखों में हुआ धमाका भी नहीं था।  डीसीपी ने कहा कि शॉर्ट सर्किट की वजह से भी यह हादसा नहीं हुआ है। घटनास्थल से कंप्रेशर का कोई टुकड़ा भी बरामद नहीं हुआ है। 

प्रत्यक्षदर्शियों ने कहा कि विस्फोट बहुत ही शक्तिशाली था।  धमाके की आवाज घटनास्थल से करीब दो किलोमीटर दूर तक सुनी गई। स्थानीय लोगों ने कहा कि धमाके के बाद उन्हें ऐसा महसूस हुआ कि भूकंप आया है।  विस्फोट से आसपास की धरती हिल गई.