केंद्रीय गृह सचिव अजय कुमार भल्ला ने एक उच्च स्तरीय बैठक में बंगाल की खाड़ी में उठने वाले चक्रवाती तूफान के मद्देनजर केंद्रीय मंत्रालयों, एजेंसियों और अंडमान निकोबार प्रशासन के साथ तैयारियों की समीक्षा की। बैठक में मौसम विभाग की ओर से बताया गया कि बंगाल की खाड़ी में निम्न दबाव के एक क्षेत्र के 21 मार्च तक चक्रवाती तूफान में बदलने की आशंका है, जिससे 70 से 80 और बाद में 90 किलोमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से तेज हवाएं चलने का अनुमान है। 

ये भी पढ़ेंः खूनी गलवान संघर्ष के बाद पहली बार ऐसा बड़ा काम करने जा रहा है चीन


स्थिति से निपटने के लिए राष्ट्रीय आपदा मोचन बल की एक टीम पोर्ट ब्लेयर में तैनात की गई है और अतिरिक्त टीमों को जरूरत पड़ने पर हवाई मार्ग से वहां पहुंचाया जाएगा। अंडमान निकोबार प्रशासन ने कहा है कि उसने इस स्थिति से निपटने के लिए आपात आपूर्ति की व्यवस्था की है इसके अलावा जान माल के नुकसान की भरपाई तथा ढांचागत सुविधाओं को जल्द बहाल करने के उपाय किए गए हैं। मछली पकड़ने, पर्यटन और जहाजरानी से संबंधित गतिविधियों को रोक दिया गया है। 

ये भी पढ़ेंः सरकारी स्कूल में सपना चौधरी के गाने पर टीचर्स ने जमकर लगाए ठुमके, डीईओ ने भेजा नोटिस


समुद्र में गए मछुआरों को भी लौटने की सलाह दी गई है। इसके अलावा सेना, नौसेना, वायु सेना तथा तटरक्षक बल को भी तैयार रहने के लिए कहा गया है। केंद्रीय मंत्रालय भी जरूरत पड़ने पर सहायता के लिए तैयार हैं। भल्ला ने संबंधित केंद्रीय मंत्रालयों और एजेंसियों को निर्देश दिया है कि वे अंडमान निकोबार प्रशासन के साथ निरंतर संपर्क बनाए रखें।