अमेरिकी फेडरल रिजर्व के ब्याज दर में बढ़ोतरी की उम्मीद से विदेशी बाजारों में आई तेजी से घरेलू स्तर पर उत्साहित निवेशकों की चौतरफा लिवाली के बल पर सोमवार को सेंसेक्स 57 हजार अंक की ओर लपकते हुये 56958.27 अंक के अब तक रिकार्ड उच्चतम स्तर तक चढ़ा। बाजार की इस तेजी में निवेशकों की दौलत में करीब 3.5 लाख करोड़ का इजाफा हुआ है

स्थानीय स्तर पर दूरसंचार, यूटिलिटीज, बेसिक मैटेरियल्स, बैंकिंग, धातु और पावर समेत सभी समूहों में हुई जबरदस्त लिवाली के बल पर बीएसई का तीस शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 765.04 अंक की छलांग लगाकर अबतक के नये शिखर 56889.76 पर पहुंचकर इतिहास रच दिया। इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज की निफ्टी 225.85 अंक उछलकर 16931.05 अंक के अब तक रिकॉर्ड स्तर पर बंद हुआ। बड़ी कंपनियों की तरह छोटी और मझौली कंपनियों के शेयरों के प्रति भी निवेशक खासे उत्साहित देखे गये। 

इस दौरान बीएसई का मिडकैप 400.99 अंक की उछाल के साथ 23656.38 अंक और स्मॉलकैप 406.13 अंक की तेजी के साथ 26690.28 अंक पर पहुंच गया। बीएसई में कुल 3497 कंपनियों के शेयर में कारोबार हुआ, जिनमें से 2222 बढ़त में और 1096 गिरावट में रहे जबकि 179 में कोई बदलाव नहीं हुआ। निवेशकों की चौतरफा लिवाली के बल पर सेंसेक्स के 19 में से 17 समूहों के शेयर बढ़त पर रहे। हालांकि आईटी और टेक के शेयरों में 0.5 प्रतिशत की गिरावट रही। 

दूरसंचार समूह के शेयरों ने सबसे अधिक 3.53 प्रतिशत की ऊंची छलांग लगाई। इसी तरह धातु में 2.62 प्रतिशत, पावर में 2.31, बेसिक मैटेरियल्स में 2.16, यूटिलिटीज में 2.14, बैंङ्क्षकग में 2.06 और ऊर्जा में 1.95 प्रतिशत की बढ़त पर रहे। इनके अलावा अन्य समूह के शेयर भी 0.76 प्रतिशत से लेकर 1.94 प्रतिशत तक चढ़े। वैश्विक बाजार में तेजी का रुख रहा। इस दौरान ब्रिटेन का एफटीएसई 0.32 प्रतिशत, जर्मनी का डैक्स 0.28 प्रतिशत, जापान का निक्केई 0.54 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसैंग 0.52 प्रतिशत और चीन का शंघाई कंपोजिट 0.17 प्रतिशत की बढ़त पर रहा। 

कारोबार की शुरुआत में सेंसेक्स 204.53 अंक की मजबूती के साथ 56329.25 पर खुला। थोड़ी देर बाद यह 56309.86 अंक के निचले स्तर तक फिसला। लेकिन, इसके बाद लगातार जारी लिवाली के बल पर यह 57 हजार अंक की ओर लपकते हुये 56958.27 अंक के उच्चतम स्तर पर पहुंच गया। अंत में पिछले दिवस के 56124.72 अंक की तुलना में 1.36 प्रतिशत उछलकर 56889.76 अंक पर पहुंच गया।