वैश्विक स्तर पर अधिकतर मुख्य सूचकांकों में रही गिरावट के बावजूद आरबीआई द्वारा आशा के अनुरूप प्रमुख नीतिगत दरों में कोई बदलाव नहीं करने से बुधवार को शेयर बाजार के सेंसेक्स और निफ्टी में जबरदस्त उछाल दर्ज किया गया। 

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 460.37 अंकों की बढ़त लेकर 49,661.76 अंक पर पहुंच गया तथा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 135.55 अंकों की उछाल के साथ 14,819.05 अंक पर पंहुच गया। 

इस दौरान दिग्गज, मझोली तथा छोटी कंपनियों में हुई लिवाली से बीएसई का मिडकैप 167.45 अंक यानी 0.82 प्रतिशत की उछाल लेकर 20,653.28 अंक पर तथा स्मॉलकैप भी 273.30 अंक यानी 1.30 प्रतिशत की बढ़त के साथ 21,293.40 अंक पर पहुँच गया। 

आरबीआई की मौद्रिक नीति में घर, कार आदि पर ब्याज दरों में कोई घटबढ़ नहीं होने से बैंकिंग समूह की कंपनियों में सबसे अधिक 576.67 अंकों अर्थात 1.57 प्रतिशत और ऑटो क्षेत्र की कंपनियों में 371.47 अंक यानी 1.69 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की गई।