असम में गुरुवार को पुलिस को बड़ी कामयाबी हासिल हुई है। पुलिस ने पिछले 24 घंटों में अलग-अलग जगहों से कुल 45 किलो सोना के साथ ही पांच लोगों को गिरफ्तार किया है। इससे बड़ा खुलासा हुआ है कि गुवाहाटी सोने की तस्करी का एक बड़ा  गढ़ बन गया है। म्यांमार से तस्करी कर लाए जा रहे सोने को मणिपुर होते हुए असम के रास्ते देश के अन्य जगहों पर ले जाया जा रहा है।


गुप्त सूचना के आधार पर खुफिया राजस्व निदेशालय ने असम के कार्बी आंग्लांग से 18.5 किग्रा, बोरझार हवाई अड्डे से 700 ग्राम और पश्चिम बंगाल के सिलीगुड़ी से 25.7 किग्रा सोना जब्त किया। तस्करी के सबसे बड़े कॉरिडोर के रुप में कार्बी आंग्लांग जिले के राष्ट्रीय राजमार्ग सामने आए हैं।


खुफिया राजस्व निदेशालय ने कार्बी आंग्लांग से 18.5 किग्रा सोना जब्त करने के साथ ही दो व्यक्तियों को गिरफ्तार किया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार मांजा पुलिस के साथ अभियान चलाकर निदेशालय के अधिकारियों ने एक ईको वाहन(एएस 01-बीएस 3330) में गुप्त तरीके से ले जाए जा रहे सोने के बिस्कुटों को बरामद किया। इस कार के अंदर विशेष इंतजाम कर सोने के बिस्कुट ले जाए जा रहे थे। तस्कर मणिपुर की राजधानी इंफाल से गुवाहाटी आ रहे थे तभी रास्ते में पकड़े गए। इस सोने की कीमत लगभग छह करोड़ बताई जा रही है। गिरफ्तार लोगों में मणिपुर के थौबाल जिले का तारी मंसूर(20) और इबाल हुसैन(31) शामिल है।


वहीं इन दो गिरफ्तार लोगों के बयान के आधार पर निदेशालय के सिलीगुड़ी स्थित अधिकारियों ने अभियान चलाकर 25 किलोग्राम सोना जब्त किया जिसकी कीमत दस करोड़ बताई जा रही है। इस मामले में आमिर खान(21) और मोहम्मद फिरोज(24) को गिरफ्तार किया गया है। इनसे मिली जानकारी के अनुसार यह सोना मणिपुर के मोरे से सिलीगुड़ी लाया जा रहा था। मारुति वाहन के ब्रेक शू में सोना छिपाकर लाया गया था।


वहीं गुवाहाटी के लोकप्रिय गोपीनाथ बरदलै हवाईअड्डे पर अजमत अली नामक एक व्यक्ति को पकड़ा गया है जो अपने मलद्वार में 700 ग्राम सोना ले जा रहा था। इसकी कीमत 27 लाख बताई गई है। अली दिल्ली जा रहा था। यात्रियों की तलाशी के दौरान वह पकड़ में आया।