कोरोना काल में अगर जॉब चली गई हो और कमाई का दूसरा जरिया न हो तो चिंता मत करिए। आप घर बैठे महज 5 हजार रुपए से ऐसे दो बिजनेस शुरू कर सकते हैं जिनसे लाखों की कमाई की जा सकती है। इसमें पहला बिजनेस मास्क बनाने का है और दूसरा अचार बनाने का। शुरुआती दौर में आप इसे घर पर कर सकते हैं। बाद में व्यापार के विस्तार पर आप सरकारी स्कीम के जरिए कम ब्याज पर लोन भी ले सकते हैं। कोरोना संकट में लोगों को आत्मनिर्भर बनाने के लिए मोदी सरकार लगातार प्रेरित कर रही है। वक्त के साथ बदलती जरूरतों के ​बीच मास्क एक अहम हिस्सा बन गया है। इसलिए मार्केट में ये बिजनेस काफी सफल हो रहा है। इसमें कम लागत में बेहतर मुनाफा कमाया जा सकता है। वहीं भारतीय घरों में खाने के साथ अचार खाना एक आम बात है। इसका व्यवसाय हमेशा फायदे का सौदा रहता है। तो किस तरह करें इसकी शुरुआत जानिए पूरी प्रक्रिया।

आजकल तमाम लोग घरों में मास्क बनाकर इसे बेचकर पैसा कमा रहे हैं। इसमें ज्यादा लागत की जरूरत नहीं है। आप महज 5 हजार रुपए से इसकी शुरुआत कर सकते हैं। इसके लिए आपको महज एक सिलाई मशीन, कपड़े, धागे और इलास्टिक की जरूरत होगी। आप चाहे तो ड्रेस की मैचिंग का मास्क बनाकर भी बेच सकते हैं। ये काफी स्टायलिश लगते हैं और लोगों को खूब पसंद भी है। मार्केट में भी इनकी डिमांड है। इन्हें आप टेलर की दुकान से बचे कपड़ों की कतरन से बना सकते हैं। इसे बनाने में लागत भी कम आएगी। इसे आप मार्केट में सीधे बेच सकते हैं। इसके अलावा मास्क को ऑनलाइन बेचकर भी मुनाफा कमाया जा सकता है। केंद्र सरकार की एडवाइजरी में भी हैंडमेड मास्क के प्रयोग पर बल दिया गया। स्वास्थ महानिदेशालय के अनुसार होममेड मास्क को सुरक्षात्मक कवर के तौर पर उपयोग किया जा सकता है। ये कोरोना से बचने के लिए कारगर है। इसे धुल भी सकते हैं इसलिए ये ज्यादा कारगर है। कपड़े के मास्‍क देशभर में बाजारों में बिकने के साथ ही इनका कई देशों में निर्यात भी किया जा रहा है।

एक मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक मध्य प्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन कटनी के माध्यम से स्वसहायता समूहों से जुड़ी महिलाओं ने मास्क बनाने का काम शुरू किया। जिससे उन्होंने लाखों की कमाई भी की। बताया जाता है कि आजीविका मिशन कटनी के समत विकासखंडों के 23 स्व सहायाता समूहों से जुड़ी 157 महिलाओं तैयार 68365 मास्क को विभिन्न ग्राम पंचायतों में वितरित किया गया। इन मास्कों को 8 रुपए प्रति मास्क की दर पर बेचने से समूह को 546920 रुपये की आमदनी हुई। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक गाजियाबाद के अमन जैन नामक एक शख्स हैदराबाद में एक कंपनी में एचआर थे। लॉकडाउन की वजह से वह अपने घर आ गए। यहां उन्होंने घर पर ही कुछ बिजनेस करने का सोचा। उन्होंने अपनी मां की कुछ रेसिपी ट्राई कीं। उन्होंने सबसे पहले अचार बनाया इसके बाद दूसरे होममेड प्रोडक्ट्स। उन्होंने पहले अपने दोस्तों को इसे चखाया, जो कि उन्हें काफी पसंद आया। बाद में उन्होंने व्हाट्सऐप एवं दूसरे सोशल मीडिया के जरिए अपने बिजनेस का प्रचार किया। शुरुआत में उन्हें कम आर्डर मिले, बाद में इनकी संख्या बढ़ती गई। कहा जाता है कि उन्होंने एक महीने में करीब 3 लाख रुपए तक कमाए हैं। इसी तरह आप भी इन ​बिजनेस आईडियाज को अपने रोजगार का जरिया बना सकते हैं।