कभी आपने प्रकृति की गोद में किसी पेड़ के ऊपर बने मचान यानी ट्री हाउस पर अपना वीकेंड गुजारा है? अगर नहीं, तो प्लान बना लीजिए। देश में ट्री हाउस में वीकेंड एंज्वॉय करने का ट्रेंड काफी तेजी से पॉपुलर हो रहा है। किसी जंगल या रिजॉर्ट में पेड़ के ऊपर बने शानदार वुडेन लॉज में सुकून के पल बिताने का एक अलग ही अनुभव होता है।

शहर के कोलाहल से दूर सुबह जब पक्षियों की चहचहाट से जागेंगे, तो वह अनुभूति बेहद मैजिकल होगी। खासकर शहरों में तो अब आप इसकी कल्पना भी नहीं कर सकते।

सुविधाओं के लिहाज से भी ये ट्री हाउस कहीं से कमतर नहीं होते हैं। इनमें तमाम तरह की सुविधाएं मौजूद होती हैं। अब अगर आप भी ऐसे ही किसी ट्री हाउस वीकेंड पर जाना चाहते हैं, तो केरल का ट्रिप प्लान कर सकते हैं।

किसी को केरल के चाय या मसाले के बागानों में समय बिताना है, तो ट्री हाउस का विकल्प मौजूद है। यहां पर्यटकों के लिए मॉडर्न फर्नीचर, फ्लशेबल टॉयलेट, बेडरूम, वॉश बेसिन और वॉटर, सब कुछ मिलता है। इसके बालकनी में बैठकर आप कुदरती नजारों का आनंद उठा सकते हैं।

यूं कहें कि प्रकृति के साथ छेड़छाड़ किए बिना आपको यहां घर जैसा अहसास होता है। जमीन से करीब 60 से 80 फीट की ऊंचाई पर स्थित इन ट्री हाउस तक एक खास तरह के क्रेन लिफ्ट से पहुंचा जा सकता है।

बड़ा केरन बास्केट एलिवेटर का काम करता है और आपको टॉप पर पहुंचाता है। इसमें न बिजली खर्च होती है और न ही ज्यादा शोर होता है। कई ट्री हाउसेज में लकड़ी की सीढ़ियां भी बनी होती हैं।