पृथ्वी पर विशालकाय डायनासोर (Dinosaur) के अस्तित्व से जुड़ी एक और बड़ी खोज सामने आई है। स्‍पेन में टाइटनोसौर प्रजाति के डायनासोर (Titanosaur Dinosaur) के एक घोंसले से 30 अंडे (Dinosaur Eggs) सुरक्ष‍ित अवस्‍था मिले हैं। पुरातत्‍वविदों ने इन अंडों को उत्‍तरी स्‍पेन के लोआरे खुदाई स्‍थल से दो टन चट्टान से निकाला है। पुरातत्वविदों का मानना है कि क्षेत्र में 70 से अधिक अंडे और हो सकते हैं।

गौरतलब है कि टाइटनोसौर (Titanosaur) लंबी गर्दन वाले डायनासोर होते थे, जो करीब 6.6 करोड़ साल पहले खत्‍म हो गए थे। इसकी पूंछ 66 फुट तक लंबी होती थी। हालांकि वैज्ञानिकों को अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि ये डायनासोर शाकाहारी थे या मांसाहारी। अब इन अंडों के अध्ययनों के बाद इस विषय में जानकारी मिलेगी। यूनिवर्सिटी ऑफ जारागोजा (University of Zaragoza) के जीवाश्‍म वैज्ञानिकों के एक दल ने नोवा यूनिवर्सिटी लिस्‍बन (Nova University Lisbon) के साथ मिलकर इस खुदाई को अंजाम दिया है। नोवा यूनिवर्सिटी से जुड़े मोरेनो-अजांजा ने कहा कि साल 2020 में दो घोंसलों की खुदाई की गई थी। अजांजा ने कहा कि चट्टानों से करीब 30 अंडे मिले हैं। ये अंडे चट्टान के अंदर दबे हुए थे जिसका वजन 2 टन था। कुल पांच लोगों के दल ने 50 दिनों तक 8 घंटे खुदाई की ताकि डायनासोर के घोंसले को निकाला जा सके। बाद में इसे बुलडोजर की मदद से निकाला जा सका। अब इनका अध्ययन किया जाएगा।

गौरतलब है कि इससे पहले अर्जेंटीना में डायनासोर (dinosaurs in argentina) के 100 से ज्‍यादा अंडे मिले थे। इन अंडों से दुनिया में पहली बार डायनासोर के झुंड में रहने के व्‍यवहार के बारे में पता चला था। खास बात यह है कि इन अंडों में अभी तक भ्रूण हैं। अंडों को स्कैन करने पर पता चला कि ये मुसौरस पेटागोनिकस प्रजाति के हैं। ये लंबी गर्दन वाले डायनासोर शाकाहारी होते थे। यह डायनासोर का घोंसला 19 करोड़ 30 लाख साल पुराना है।