नई दिल्ली। अभी तक आपने धरती पर शानदार व्यू वाले कई 5 स्टार से लेकर 7 स्टार होटल देखे होंगे। लेकिन, क्या आपने कभी सोचा है कि एक ऐसा भी होटल हो सकता है जो धरती पर नहीं बल्कि सौरमंडल में हो। जी हां, यह होटल धरती पर नहीं बल्कि अंतरिक्ष पर हो और आप इसको लेक रोमांचित होंगे। यह बात सुनकर आपको अजीब लग रहा होगा लेकिन स्पेस कंपनी ऑर्बिटल असेंबली यह होटल बनाने जा रही है। यूएस स्थित इस कंपनी ने अपने स्पेस होटल को लेकर कई जानकारियां शेयर की हैं, जिस पर वह 2019 से काम कर रही है।


यह भी पढ़ें : अरुणाचल में शहीद हुए सूबेदार हरदीप सिंह, अब पंजाब सरकार परिवार को देगी एक करोड़ रुपए


कैलिफोर्निया की कंपनी गेटवे फाउंडेशन द्वारा इस होटल के डिजाइन और खासियत को हाल ही में फीचर किया गया। इस प्रोजेक्ट की देखरेख अब ऑर्बिटल असेंबली कॉरपोरेशन कर रही है। रिपोर्ट के मुताबिक, ऑर्बिटल असेंबली अब टूरिस्ट के लिए एक नहीं बल्कि 2 अंतरिक्ष स्टेशनों को लॉन्च करने की तैयारी में है। वायेजर स्टेशन में अब 400 लोगों के ठहरने की क्षमता होगी। इसे 2027 में शुरू करने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं नए स्टेशन का नाम पायनियर स्टेशन रखा गया है और इसमें 28 लोग आ सकेंगे। इसे अगले तीन साल में यानी 2025 में शुरू करने का लक्ष्य कंपनी ने रखा है।

अब स्पेस टूरिज्म पहले से कहीं ज्यादा करीब हो गया है। पिछले एक साल में इस सेक्टर में कई बड़े खिलाड़ी आए हैं। वर्जिन के संस्थापक रिचर्ड ब्रैनसन ने अपनी कंपनी वर्जिन गेलेक्टिक के साथ सबऑर्बिटल स्पेस में काफी धमाका किया है। वहीं स्टार ट्रेक अभिनेता विलियम शैटनर ब्लू ओरिजिन के साथ अंतरिक्ष में सबसे उम्रदराज व्यक्ति बन गए हैं। लेकिन अभी भी यहां सिर्फ छुट्टी मनाने और घूमने के लिए जाना थोड़ा मुश्किल लगता है।

यह भी पढ़ें : 2023 चुनाव की तैयारियों जुटी पार्टियां, UDP में 7 विधायक शामिल होने की संभावना

ऑर्बिटल असेंबली के मुख्य परिचालन अधिकारी टिम अलातोरे को लगता है कि अंतरिक्ष पर्यटन के शुरू होते ही यह अड़चन भी दूर हो जाएगी। लोगों का रुझान इसके प्रति बढ़ेगा और इसे यूज करने वालों की संख्या भी बढ़ेगी। उन्होंने बताया कि हमारा लक्ष्य हमेशा अंतरिक्ष पर बड़ी मात्रा में लोगों के रहने, काम करने और उनके घूमने की संभावना बनाने पर रहा है। घूमने के अलावा हम लोग अंतरिक्ष स्टेशन पर ऑफिस और रहने की जगह पर भी काम कर रहे हैं। घर और ऑफिस किराए पर उपलब्ध होगा।