एक नई छवि पेश करने और पार्टी को और अधिक व्यापक बनाने का प्रयास करने के बाद समाजवादी पार्टी यादवों के वोट बैंक को फिर से पाने की आस में मेहनत करने में जुटी है। पार्टी ने विधान परिषद के लिए 16 सीटों पर 12 यादव उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है, जहां आने वाले हफ्तों में चुनाव होने हैं।

ये भी पढ़ेंः बीमा कंपनी परेशान करे तो सीधे यहां दर्ज करें शिकायत, तुरंत होगी कार्रवाई


सपा ने युवाओं पर अपना दांव लगाया है, जिसमें लगभग 50 प्रतिशत उम्मीदवार पहली बार आए हैं। एक दिन पहले ही सपा ने देवरिया-कुशीनगर सीट से कफील खान की उम्मीदवारी की पुष्टि की थी। सपा के कई उम्मीदवारों ने बुधवार को नामांकन पत्र दाखिल किया। राज्य के 35 स्थानीय निकायों (एटा, मथुरा मैनपुरी सीट पर दो उम्मीदवारों के चुनाव) के तहत 36 सीटों पर एमएलसी चुनाव के लिए मतदान 9 अप्रैल को होगा और वोटों की गिनती 12 अप्रैल को होगी। इन चुनावों में सभी जनप्रतिनिधि अपनी-अपनी क्षेत्रवार सीटों के लिए वोट करेंगे।

ये भी पढ़ेंः अब रूस ने किया यूक्रेन से सौदा, ९ रूसी कैदियों के बदले जेलेंस्की को सौंपा ये इंसान


बुधवार को जारी सपा की सूची में अनुराग वर्मा (खीरी), मनोज कुमार (जौनपुर), उमेश कुमार (वाराणसी), अमर यादव (बहरीच), विजय बहादुर यादव (प्रतापगढ़) और दिलीप सिंह यादव (आगरा-फिरोजाबाद) के नाम शामिल हैं। लखनऊ-उन्नाव सीट से मौजूदा एमएलसी सुनील सिंह साजन को भी प्रत्याशी बनाया गया है। राजेश यादव (बाराबंकी), अमित यादव (पीलीभीत-शाहजहांपुर), रजनीश यादव (गोरखपुर-महाराजगंज), श्याम सुंदर सिंह (झांसी-जालौन-ललितपुर), संतोष यादव (बस्ती-सिद्धार्थनगर), वीरेंद्र शंकर सिंह (रायबरेली) के नाम हीरा लाल यादव (फैजाबाद), राजेश कुमार यादव उर्फ गुड्डू (आजमगढ़-मऊ) और मकसूर अहमद (रामपुर-बरेली) भी सूची में शामिल हैं। सूत्रों ने बताया कि उम्मीदवारों को सीधे नामांकन दाखिल करने का निर्देश दिया गया है।