सोल। दक्षिण कोरिया ने यूक्रेन पर रूस के हमले के बाद ऊर्जा संकट को कम करने में मदद के लिए अपनी तरलीकृत प्राकृतिक गैस (एलएनजी) आपूर्ति का एक हिस्सा यूरोप भेजने की योजना बनाई है। इसकी जानकारी गुरुवार को अधिकारियों ने दी। योनहाप समाचार एजेंसी की रिपोर्ट के अनुसार, यूक्रेन संकट के बीच यूरोप में प्राकृतिक गैस की आपूर्ति बाधित होने के कारण चिंताएं बढ़ गई हैं, क्योंकि रूस अभी तक यूरोप में गैस की आपूर्ति करता आया है।

यह भी पढ़े : Love Horoscope 28 April : ये राशि वाले आज कर दें अपने प्यार का इजहार, इनकी अपने किसी खास से होगी मुलाकात

बुधवार को, रूस स्वामित्व वाले गैस उत्पादक गजप्रोम ने कहा कि उसने पोलैंड और बुल्गारिया को प्राकृतिक गैस की आपूर्ति में कटौती की है, क्योंकि इन्होंने रूबल में भुगतान करने से इनकार कर दिया था। जवाब में, उद्योग मंत्रालय के एक अधिकारी ने कहा कि दक्षिण कोरिया ने अपने कुछ एलएनजी गैस कार्गो को यूरोप की ओर मोडऩे का फैसला किया है।

अधिकारी ने इस बारे में ब्योरा देने से साफ इनकार कर दिया कि दक्षिण कोरिया कब और कितना गैस भेजेगा, लेकिन अंदेशा लगाया जा रहा है कि शिपमेंट यूरोप को भेजी जाएगी, हालांकि मात्रा उतनी नहीं होगी। एक अन्य अधिकारी ने कहा कि ऐसा लगता है कि यह फैसला अमेरिका या यूरोपीय देशों के अनुरोध पर किया गया है। मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, फरवरी में, वाशिंगटन ने यूरोप के लिए दक्षिण कोरिया से गैस सहायता मांगी, लेकिन दक्षिण कोरिया की सरकार ने इनकार कर दिया।

यह भी पढ़े : 30 अप्रैल को होगा सूर्यग्रहण, बन रहा है शनि अमावस्या का दुर्लभ संयोग, इन तीन राशियों के लिए रहेगा भाग्यशाली 

मार्च के अंत तक दक्षिण कोरिया के लिए प्राकृतिक गैस की आयात कीमतें 1,013.35 डॉलर प्रति टन थी, जो पिछले महीने की तुलना में 20.08 प्रतिशत ज्यादा है। सरकारी आंकड़ों के अनुसार, मार्च 2021 के तुलनीय आंकड़े 438.42 डॉलर था।