बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली (BCCI President Sourav Ganguly) को बुधवार को आईसीसी (ICC) पुरुष क्रिकेट समिति का चेयरमैन नियुक्त किया गया है। यह फैसला दुबई में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की बोर्ड बैठक (icc board meeting) में लिया गया। गांगुली अपने पूर्व साथी और भारत के कप्तान अनिल कुंबले की जगह लेंगे, जिन्होंने अपने नौ साल के कार्यकाल पूरा करने के बाद पद को छोड़ा है।

आईसीसी अध्यक्ष ग्रेग बार्कले (ICC President Greg Barkley) ने कहा, मुझे आईसीसी क्रिकेट समिति के चेयरमैन के पद पर सौरव का स्वागत करते हुए खुशी हो रही है। दुनिया के सर्वश्रेष्ठ खिलाडिय़ों में से एक और बाद में एक प्रशासक के रूप में उनका अनुभव हमें आगे बढऩे और क्रिकेट निर्णयों को सही दिशा प्रदान करने में मदद करेगा। मैं अनिल (Anil Kumble) को भी धन्यवाद देना चाहता हूं। पिछले नौ वर्षों में उनके उत्कृष्ट नेतृत्व के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय खेल में सुधार करने में मदद मिली, जिसमें डीआरएस और संदिग्ध गेंदबाजी एक्शन की पहचान करना शामिल है।

आईसीसी बोर्ड ने आईसीसी विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (ICC World Test Championship) (डब्ल्यूटीसी) को जारी रखने की भी मंजूरी दी। जिसमें शीर्ष दो टीमों के बीच फाइनल के साथ दो सालों तक नौ टीमों के बीच टूर्नामेंट आयोजित किया जाएगा। 2027 में आईसीसी क्रिकेट विश्व कप के 14 टीम के आयोजन के विस्तार को भी बोर्ड ने मुख्य कार्यकारी समिति (सीईसी) की एक सिफारिश को स्वीकार कर लिया है। इस आयोजन के लिए कुछ योग्यता रखी गई हैं, जिसमे ओडीआई रैंकिंग के टॉप 10 टीमें सीधे क्वालीफाई करेगी। वहीं, अन्य टीमों को क्वालीफायर राउंड के माध्यम से टूर्नामेंट में जगह बनानी पड़ेगी।

इसके साथ ही, बोर्ड ने प्रथम श्रेणी की स्टेटस को भी अनुमति दी जो पुरुषों के खेल के साथ महिला क्रिकेट पर लागू किया जा रहा है। वहीं, आने वाले समय में आईसीसी महिला समिति (ICC Women Committee) को आईसीसी महिला क्रिकेट समिति के रूप में जाना जाएगा और महिला क्रिकेट से संबंधित सभी निर्णय की जानकारी सीईसी को सौंपेगी जाएगी। क्रिकेट वेस्टइंडीज के सीईओ (Cricket West Indies CEO) जॉनी ग्रेव को आईसीसी महिला क्रिकेट समिति में नियुक्त किया गया है। बार्कले के अनुसार, यह बोर्ड की बैठकों का महत्वपूर्ण फैसला रहा है और मैं अपने साथी बोर्ड निदेशकों को दुबई आने के लिए धन्यवाद देना चाहता हूं। यह हमारी दो साल से अधिक समय बाद आमने-सामने बैठक हुई है। कोरोना महामारी में अंतर्राष्ट्रीय यात्रा आसान नहीं है, लेकिन हमने एक ही कमरे में बैठकर महत्वपूर्ण फैसले किए हैं।