भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की प्रदेश इकाई ने आज दावा किया कि मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल बातों से नहीं, कार्य से साबित करते है कि वे सही अर्थ में जातीय नायक हैं।   इस सिलसिले में प्रदेश भाजपा के राज्य पैनेललिस्ट हेमांग ठाकुरिया ने एक बयान जारी कर कहा कि केंद्र सरकार के साथ हुई दिल्ली में बीते 30 मई को हुई एक महत्वपूर्ण बैठक में असम समझौते के मूल दफा 'असमिया लोगों के सांविधानिक रक्षा कवच' के मुद्दे को पेश किया । 

इस अवसर पर केंद्र सरकार ने असमिया जातीय सत्ता के प्रति सम्मान प्रकट कर असमिया लोगों को सांविधानिक रक्षा कवच प्रदान करने का आश्वासन दिया । उन्होंने बताया कि असम विरोधी तथा असमिया जाति के लिए चुनौती बनकर  खड़ा रहने वाला आई .एम.डी.टी कानून को रद्द करने में विशेष तत्परता दिखाकर सफल होने वाले सर्वानंद सोनोवाल को जातीय नायक करार दिया गया था ।