असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल ने सूबो के सिखों को अति सूक्ष्म (कम संख्या) का विशेष रुतबा प्रदान करने और असम में सिख भाईचारे को सामाजिक, आर्थिक और राजनैतिक तौर पर ऊंचा उठाने के लिए सरकार की ओर से अलग-अलग सहूलियतें देने के लिए सहमति दे दी है। 

इस संबंध में मंगलवार को दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक समिति (डीएसजीएमसी) के महासचिव मनजिंदर सिंह सिरसा के नेतृत्व में उच्च स्तरीय सिख प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की।

इस मुलाकात के दौरान प्रतिनिधिमंडल ने मुख्यमंत्री अपनी मांगों को लेकर एक ज्ञापन भी सौंपा था। इस ज्ञापन असम में रह रहे सिखों को 'अति सूक्ष्म' का विशेष दर्जा देने समेत सिखों के लिए और भी सहूलियतों की मांग की गई थी।

इस मीटिंग दौरान असम के मुख्य सचिव विनोद कुमार पाईपरसेनिया और संजय लोहिया भी मौजूद थे। वहीं डीएसजीएमसी के प्रतिनिधिमंडल में सिरसा के अलावा सीनियर अकाली नेता कुलदीप सिंह भोगल, गुरुद्वारा समिति प्रधान प्रताप सिंह और सामाजिक कार्यकर्ता इंदु सिंह भी शामिल थे।