देश में कोरोना वायरस संक्रमण के एक दिन में 2.57 लाख नए मामले आए हैं। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2,62,89,290 हो गए हैं। इसी बीच ब्लैक फंगस के भी मामले बढ़ते ही जा रहे हैं। कोरोना के कहर के साथ ब्लैक फंगस की तबाही को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने पीएम मोदी से पत्र लिखा है और मांग की है कि देश में म्यूकरमाइकोसिस या ब्लैक फंगल इंफेक्शन की दवा और इंजेक्शन की सप्लाई को सुनिश्चित करें।

फंगस लोगों को तेजी से अपना शिकार बना रहा है। बताया रहा है कि इस संक्रमण के ज्यादातर मरीज कोविड-19 से उबर चुके लोग हैं। पीएम मोदी को सोनिया गांधी ने म्यूकरमाइकोसिस को महामारी घोषित करने के लिए कहा है। इसी के साथ सोनिया ने मोदी से मांग की है कि  “ब्लैक फंगस के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवा का पर्याप्त उत्पादन और आपूर्ति को सुनिश्चित किया जाना चाहिए और म्यूकरमाइकोसिस से जूझ रहे मरीजों के मुफ्त इलाज की बात कही है ”।


कांग्रेस अध्यक्ष ने लिखा कि  ''मैं समझती हूं कि इसकी दवा लिपोसोमल एम्फोटेरिसिन बेहद जरूर है। हालांकि, बाजार में इसकी कमी की खबरें हैं ''। सोनिया गांधी ने फंगस बीमारी को आयुष्मान योजना में शामिल करने के लिए भी कहा है। उन्होंने पत्र में लिखा कि ''इसका इलाज आयुष्मान भारत और अन्य योजनाओं में शामिल नहीं है। मैं इस मामले में तत्काल कदम उठाने का निवेदनकरती हूं ''। बता दें कि दिल्ली, महाराष्ट्र और गुजरात समेत कई प्रदेशों से सप्लाई बढ़ाने की मांग की गई है। देश में ब्लैक फंगस के करीब 9,000 मामले सामने आ चुके हैं।