भारत चीन विवाद के बीच सुर्खियां बंटोरने वाले सोनम वांगचुक ने एक नया वीडियो पोस्ट किया है। नए वीडियो में वांगचुक ने ट्विटर द्वारा अमूल के एक्टिज द ड्रैगन  ऐड के बाद ब्लॉक किए जाने और गूगल प्ले स्टोर द्वारा भारतीय ऐप्स को हटाए जाने का मुद्दा उठाते हुए अपनी बात रखी है। उन्होंने कहा कि भारतीय द्वारा चाइनीज ऐप्स को हटाना एक अच्छी खबर है। वांगचुक ने आगे कहा कि भारतीय द्वारा चीनी सामान के बहिष्कार के लिए जो कदम उठाए जा रहे हैं ये उसी दवा का असर है।

वांगचुक ने कहा कि सर्वे की रिपोर्ट यह बताती है कि भारत के 91 प्रतिशत लोग चीनी सामान का बहिष्कार करना चाहते हैं। उन्होंने कहा कि भारत में चीनी सामान के बहिष्कार का असर चीन पर पड़ने लगा है और वो ट्विटर और गूगल प्ले स्टोर पर दवाब बना रहा है। ग्लोबल टाइम्स की रिपोर्ट का जिक्र करते हुए वांगचुक ने कहा कि चीन में इसका असर हो रहा है ये रिपोर्ट इस बात की पुष्टि करता है, क्योंकि ग्लोबल टाइम्स किसी भी खबर को ऐसे तवज्जों के साथ पब्लिश नहीं करता है। 

दरअसल, पिछले दिनों ग्लोबइल टाइम्स की एक रिपोर्ट में कहा गया था कि भारत के बाजार चीनी सामानों से भरे हुए है और भारतीय लोग चीनी प्रोडक्ट्स के बिना नहीं रह सकते हैं। आगे बोलते हुए वांगचुक ने कहा, पहली बार चीन दबाव महसूस कर रहा है। इसे बनाए रखने की जरूरत है। भारतीयों को लगातार चीनी प्रोडक्ट्स का बहिष्कार करना होगा और इन्हें इस्तेमाल करना बंद करना होगा। देश की जनता से अनुरोध करते हुए वांगचुक ने कहा कि ये जवाब भारत की जनता चीन को देगी कि उसे चीनी ऐप्स और चीनी सामान की आवश्यकता नहीं है।  उन्होंने कहा, असर हो रहा है बस लगे रहिए, आप हैं सिपाई वॉलेट के आप देश के लिए जान नहीं जिंदगी देने वाले हैं, दूसरी तरफ हमारे सैनिक जान तक देने के लिए निकल चुके हैं।