आज के समय में मोबाइल फोन लोगों की ज़िंदगी का अहम हिस्सा बन चुका है, लेकिन उसी मोबाइल के चलते लोगों की ज़िंदगी भी तबाह हो रही है। एक ऐसा ही चौंकाने वाला मामला गुजरात के सूरत से सामने आया है। यहां एक पिता ने जब अपने बेटे को मोबाइल गेम खेलने से टोका तो बेटे ने अपने पिता की घर में ही गला दबाकर मौत के घाट उतार दिया।

यह वाकया सूरत शहर के इच्छापोर थाना क्षेत्र में आने वाले कवास गांव में रहने वाले अर्जुन अरुण सरकार के साथ हुआ है। अर्जुन सरकार अपनी पत्नी और एक बेटे के साथ यहां एक मकान में रहते थे। मंगलवार को अर्जुन अरुण को उसकी पत्नी डॉली बेहोशी की हालत में सूरत के नई सिविल अस्पताल लेकर आई थी, जहां डॉक्टर ने अर्जुन को मृत घोषित कर दिया था।

पत्नी डॉली और उसके नाबालिग बेटे ने अस्पताल के डॉक्टर को उस वक्त बताया था कि अर्जुन आठ दिन पहले बाथरूम में गिर गए, तब उन्हें चोट लगी थी, मंगलवार को वो सो गए फिर उठे ही नही थे। मृतक अर्जुन सरकार की पत्नी डॉली और उनके नाबालिग बेटे की बातों से अस्पताल के डॉक्टर को शक हुआ तो उन्होंने शव का पोस्टमॉर्टम करवाने का फैसला लिया।

पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट में साफ हुआ कि अर्जुन की मौत गला दबाने से हुई थी। इस मामले की सूचना इच्छापोर पुलिस को दी गई। इसके बाद पूछताछ में 17 वर्षीय बेटे ने पुलिस को बताया कि वो सारा दिन मोबाइल पर गेम खेलता रहता था, जिसको लेकर उसके पिता अर्जुन सरकार उसे टोकते रहते थे, मंगलवार को उसने सोते हुए अपने पिता का गला दबाकर मार डाला।

पुलिस ने फ़िलहाल मृतक अर्जुन सरकार की पत्नी डॉली और नाबालिग बेटे को हिरासत में लेकर आगे की क़ानूनी कार्रवाई शुरू की है। मोबाइल में गेम खेलने से टोकने को लेकर सूरत में हुई वारदात ने हर किसी को चौंका दिया है।