शिमला। हिमाचल प्रदेश में बेमौसम बर्फबारी और ओलावृष्टि से एक ओर जहां गर्मी से काफी राहत मिली, वहीं झमाझम बारिश से लाहौल स्पीति,किन्नौर और चंबा में कई राष्ट्रीय राजमार्ग बंद होने से यातायात प्रभावित हुआ है। मौसम विभाग के अनुसार मंडी, शिमला, कुल्लू, चंबा और कांगड़ा सहित सभी जिलों में पानी बरस रहा है। लाहौल स्पीति के मुख्यालय केलांग सहित पहाड़ों पर बर्फबारी शुरू हो गई हैं। केलांग में सुबह से बर्फबारी जारी रही। इसके चलते अब लेह मनाली हाईवे बंद हो गया है। 

यह भी पढ़ें : कोनराड संगमा ने ऑफिस आने-जाने के लिए खरीदी ये धांसू कार, एकबार चार्ज में चलती है 461 किमी

केवल दारचा तक ही वाहन जा सकते हैं। उससे आगे किसी वाहन को जाने नहीं दिया जा रहा है। वहीं, पंडोह में लैंडस्लाइड के चलते चंडीगढ़ मनाली हाईवे बंद हो गया है। लाहौल घाटी में मनाली-लेह राजमार्ग (एनएच-003) मनाली से दारचा तक यातायात की आवाजाही के लिए बहाल है, पर दारचा से आगे बर्फबारी के कारण वाहनों की आवाजाही रोक दी गई है। इसके अलावा, दारचा-ङ्क्षशकुला सड़क, कोक्सर लोसर काजा सड़क (एनएच-505) में भी आवाजाही रोक दी गयी है। पांगी सड़क (एसएच-26) सोमवार से भूस्खलन के कारण और पुल क्षतिग्रस्त के कारण बन्द है। 

स्थानीय लोगों और पर्यटकों को हिदायत दी जाती है की मौसम खराब होने के कारण अनावश्यक यात्रा से बचें और आपातकालीन स्थिति में ही यात्रा करें साथ ही घाटी में खराब मौसम के चलते केलांग से लेह और कुल्लू से काजा जाने वाली बस सेवाओं को स्थगित कर दिया गया है। इसके अलावा रोहतांग दर्रा, बारालाचा, कुंजुम दर्रा, घेपन पीक, लेडी ऑफ केलांग, मुलकिला, नीलकंठ, मकवरे, शिकवरे में भी बर्फबारी हुई है। कई जिलों में बारिश, ओलावृष्टि और अंधड़ की चेतावनी जारी की है। 27 मई तक पूरे प्रदेश में मौसम खराब रहने का पूर्वानुमान है। किसानों ने मक्की बिजाई की तैयारी शुरू कर दी है। आज सुबह की शुरुआज बारिश के साथ हुई। 

यह भी पढ़ें : पारंपरिक आदिवासी पोशाक, आभूषणों का दस्तावेजीकरण करेगा नागालैंड

कल रात को भी प्रदेशभर में तूफान और बारिश का दौर जारी रहा। उधर, लाहौल स्पीति में बारिश बर्फबारी से किसान और स्थानीय लोगों के चेहरे पर रौनक लौट आई, क्योंकि यहां पर सूखे जैसे हालात पैदा हो गए थे. गर्मी बढऩे से इस बार जल्द बर्फ पिघल गई थी। ऊना में अधिकतम तापमान में 7.4 डिग्री सेल्सियस की गिरावट आई जबकि हमीरपुर में 4.9 डिग्री तक तापमान गिरा। न्यूनतम तापमान में सबसे अधिक गिरावट कुफरी में 13.1, नाहन में 8.2 और शिमला में 7.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।