असम के नागोन से सांसद प्रद्योत बोरदोलोई के कोल सिंडिकेट को लेकर दिए गए बयान की SMSS निंदा की है। यह निंदा कृषक मुक्ति संग्राम समिति की विद्यार्थी शाखा सत्र मुक्ति संग्राम समिति की तिनसुकिया शाखा ने की है। बोरदोलोई ने तिनसुकिया जिले में कोल सिंडिकेट को लेकर एक बयान दिया था जिसके यह प्रक्रिया सामने आई है।

सत्र मुक्ति संग्राम समिति के सलाहकार लख्याज्योति गोगोई ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि प्रद्योत बोरबोलोई को कोल सिंडिकेट को लेकर कुछ बोलने का हक नहीं हैं, क्योंकि यह कार्य उनके द्वारा ही शुरू किया गया था। हालांकि वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री चंद्र मोहन पटोवारी द्वारा दावा किया गया था कि तिनसुकिया में कोल सिंडिकेट के दावे झूठे हैं।

सरकार पर बोला था हमला

आपको बता दें कि 23 जुलाई को बोरदेलोई ने तिनसुकिया जिले के मार्घेरिटा इलाके में कोल सिंडिकेट की बात कह कर असम के मुख्यमंत्री सर्वानंद सोनोवाल पर हमला बोला था। डिग्बोई से मीडियो के लोगों को संबांधित करते हुए बोरदोलोई ने कहा था कि जिले में मुख्यमंत्री सर्बानंद सोनोवाल की अगुवाई में जिले में कोल सिंडिकेट चल रहा है।

उन्होंने कहा था कि तिनसुकिया के डिप्टी कमिश्नर, पुलिस अधीक्षक, वन विभाग, वाणिज्य एवं उद्योग विभाग, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड तथा मीडिया के कुछ लोग कोल सिंडिकेट में शामिल है। ये लोग ऐसा अपने को अमीर बनाने की कोशिश करने के चलते कर रहे हैं।