भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने पंजाब में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सुरक्षा को लेकर हुई चूक (PM Modi Security Lapse) की निंदा करते हुए आरोप लगाया कि देश के इतिहास में पहले कभी किसी राज्य सरकार ने जानबूझकर ऐसा परिदृश्य नहीं बनाया जहां प्रधानमंत्री को नुकसान पहुंचाया जाए लेकिन पंजाब की कांग्रेस सरकार ने ऐसी कोशिश की। 

भाजपा की वरिष्ठ नेता और केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी (Smriti Irani) ने बुधवार को यहां एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि आज पंजाब की पुण्य भूमि पर कांग्रेस के खूनी इरादे नाकाम रहे। कांग्रेस (Congress) मोदी से घृणा करती हैं यह हमें मालूम है और आज यही लोग उनकी सुरक्षा को नाकाम करने के लिए प्रयासरत थे। उन्होंने कहा, क्या जानबूझकर प्रधानमंत्री के सुरक्षा दस्ते  (PM Modi Security Lapse) को झूठ बोल गया? जिन लोगों ने उनकी की सुरक्षा को भंग किया, उन लोगों को प्रधानमंत्री की गाड़ी के पास तक किसने और कैसे पहुंचाया? राज्य सरकार की ओर से सुरक्षा का नेतृत्व करने वालों ने उन्हें सुरक्षित करने के किसी भी आह्वान या प्रयासों का जवाब क्यों नहीं दिया? 

ईरानी (Smriti Irani) ने कहा कि प्रधानमंत्री की सुरक्षा का एक प्रोटोकॉल होता है। उस सुरक्षा के प्रोटोकॉल के साथ मजाक हुआ है। मोदी को नुकसान पहुंचाने की कोशिश हुई। उनके काफिले के रास्ते को पुलिस महानिदेशक (Punjab Director General of Police) ने साफ क्यों नहीं होने दिया। सब कुछ जानते हुए भी पंजाब पुलिस मूकदर्शक बनी रही। उन्होंने कहा पंजाब में कानून-व्यवस्था इतनी खराब है कि पुलिस महानिदेशक का दावा है कि वह प्रधानमंत्री कार्यालय और प्रधानमंत्री सुरक्षा विवरण प्रदान करने में असमर्थ हैं। कांग्रेस सरकार को इसका जवाब देना चाहिए। भाजपा नेता ने कहा, सुरक्षा में चूक के बाद कांग्रेस वाले उत्सव मना रहे हैं, किस बात का उत्सव मना रहा हैं? भाजपा को चुनाव में हराते, साजिश क्यों रची? इस अवसर पर मौजूद भाजपा प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी (Sudhanshu Trivedi) ने कहा कि आज एक ऐसी घटना हुई है, जो भारत के इतिहास में अभूतपूर्व है। आतंकवाद के दौर में और आतंकवाद से प्रभावित क्षेत्रों में भी इस प्रकार की सुरक्षा की चूक नहीं हुई, जैसी आज प्रधानमंत्री की सुरक्षा के साथ हुई।