विश्व चैंपियनशिप के रजत विजेता अमित पंघल (52 किग्रा), राष्ट्रमंडल खेलों के स्वर्ण पदक विजेता विकास कृष्णन (69 किग्रा), एशियाई चैंपियनशिप की स्वर्ण विजेता पूजा रानी (75 किग्रा), लवलीना बोर्गोहेन (69 किग्रा), आशीष कुमार (75 किग्रा) और सतीश कुमार (91 किग्रा प्लस) ने एशिया/ओसनिया ओलंपिक क्वालिफायर मुक्केबाजी टूर्नामेंट में अपने-अपने क्वार्टरफाइनल मुकाबले जीत कर सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया और इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक का कोटा हासिल कर लिया जबकि विश्व चैंपियनशिप के कांस्य पदक विजेता मनीष कौशिक को 63 किग्रा में हार का सामना करना पड़ा।


इस तरह भारत के छह मुक्केबाजों ने सेमीफाइनल में पहुंच कर ओलम्पिक कोटा हासिल कर लिया। सोमवार को अमित पंघल ने 52 किग्रा वर्ग में फिलीपींस के करलो पालम को 4-1 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई जहां उनका मुकाबला चीन के हू जियानगुआन से होगा। इससे पहले रविवार को विकास ने 69 किग्रा वर्ग में तीसरी सीड जापान के सेवोनरेट््स ओकाजावा को 5-0 से पराजित कर सेमीफाइनल में जगह बनाई थी और ओलंपिक कोटा भी हासिल किया।


विकास इस जीत के साथ तीन बार ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करने वाले विजेंदर ङ्क्षसह के बाद दूसरे भारतीय मुक्केबाज बन गए। पूजा रानी ने भी शानदार प्रदर्शन करते हुए थाईलैंड की पोमनीपा चूटी को 5-0 से पराजित कर ओलम्पिक का टिकट हासिल कर लिया था। पूजा टोक्यो के लिए क्वालीफाई करने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज बनीं। वह पहली बार ओलम्पिक खेलने उतरेंगी। पूजा का सेमीफाइनल में मौजूदा विश्व और एशियायी चैंपियन चीन की ली कियान से मुकाबला होगा।


लवलीना ने उज्बेकिस्तान की मख्तूनखोन मेलीवा को 5-0 से हराकर ओलम्पिक कोटा हासिल किया। लवलीना भी पहली बार ओलम्पिक खेलेंगी। आशीष ने 75 किग्रा में इंडोनेशिया की मैखल मुस्किता को 5-0 से हराकर देश को चौथा ओलम्पिक कोटा दिला दिया। सतीश ने 91 किग्रा से अधिक के वर्ग में मंगोलिया के ओटगोनबयार दैवी को 5-0 से हराया और भारत को पांचवां ओलम्पिक कोटा दिलाया। सचिन कुमार की 81 किग्रा में हार से मिली। सचिन कुमार को चीन के डेक्सग चेन से संघर्षपूर्ण मुकाबले में 2-3 से हार का सामना करना पड़ा।


सचिन के लिए हालांकि टोक्यो ओलंपिक के लिए दरवाजे अभी पूरी तरह बंद नहीं हुए है और उन्हें टोक्यो ओलम्पिक का कोटा हासिल करने के लिए एक और मौका मिलेगा। पांच मुक्केबाज क्वालीफाई करेंगे जबकि क्वार्टरफाइनल में हारने वाले मुक्केबाज को एक और मौका मिलेगा। महिला वर्ग में साक्षी को सोमवार को 57 किग्रा वर्ग के क्वार्टरफाइनल में कोरिया की एजी इम से 0-5 से हार का सामना करना पड़ा। मनीष को 63 किग्रा में नजदीकी मुकाबले मंगोलिया के चिनजोरिग बातारसुख से 2-3 से हार का सामना करना पड़ा। मनीष अभी कोटा के लिए मुकाबले से पूरी तरह बाहर नहीं हुए हैं और उन्हें अभी एक और मौका मिलेगा।